शिक्षा

सी.एम.एस. के ‘डायमण्ड जुबली समारोह’ के अवसर पर भव्य पश्चिमी शास्त्रीय संगीत समारोह का आयोजन

सी.एम.एस. के ‘डायमण्ड जुबली समारोह’ के अवसर पर भव्य पश्चिमी शास्त्रीय संगीत समारोह का आयोजन

सी.एम.एस. के ‘डायमण्ड जुबली समारोह’ के अवसर पर भव्य पश्चिमी शास्त्रीय संगीत समारोह का आयोजन

Photo

(ऑस्ट्रिया, डोमिनिकन गणराज्य एवं भारत के कई शहरो के वादकों व गायकों की होगी सामूहिक प्रस्तुति)

लखनऊ, 14 फरवरी। सिटी मोन्टेसरी स्कूल अपनी स्थापना दिवस के 60 वर्ष (1959-2019) पूरे होने पर इस वर्ष ‘डायमण्ड जुबली समारोह’ मना रहा है। इस ‘डायमण्ड जुबली समारोह’ के उपलक्ष्य पर सी.एम.एस. द्वारा पूरे वर्ष विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किये जा रहे हैं। इन्हीं कार्यक्रमों के अन्तर्गत आगामी 20 अप्रैल, 2019, शनिवार,  को सी.एम.एस. गोमती नगर (द्वितीय कैम्पस) ऑडिटोरियम में भव्य ‘पश्चिमी शास्त्रीय संगीत समारोह’ का आयोजन किया जा रहा है। इस पश्चिमी शास्त्रीय संगीत समारोह में वियना यूनिवर्सिटी फिलहारमोनिक ऑर्केस्टा और कोरस के साथ-साथ 116 ऑस्ट्रियाई संगीतकार और गायक, डोमिनिकन गणराज्य के 11 संगीतकार एवं 41 से अधिक भारतीय संगीतकार व गायक प्रतिभाग करेंगे। उक्त जानकारी सिटी मोन्टेसरी स्कूल के मुख्य जन-सम्पर्क अधिकारी श्री हरि ओम शर्मा ने दी।    श्री शर्मा ने बताया कि देश इस वर्ष महात्मा गाँधी की 150वीं जयंती भी मना रहा है। इस अवसर पर पश्चिमी शास्त्रीय संगीत समारोह में शामिल कलाकार महात्मा गाँधी के दो प्रसिद्ध भजनों - ‘रघुपति राघव राजाराम’ और ‘वैष्णव जन तो तेने कहिये’ पर आधारित एक विशेष संगीत रचना ‘सन्मित’ को भी अपनी प्रस्तुति से यादगार बनायेंगे। श्री शर्मा ने आगे बताया कि इस कार्यक्रम में ऑस्ट्रियन और यूरोपीय संगीत कलाकारों के द्वारा विश्वप्रसिद्ध शूबर्ट, चायस्कोस्की और ग्रीग की कृतियों पर कार्यक्रम प्रस्तुत किया जायेगा।

श्री शर्मा ने बताया कि इस भव्य पश्चिमी शास्त्रीय संगीत समारोह में कार्यक्रम प्रस्तुत करने वाले आर्केस्टा में ऑस्ट्रिया (वियना) के 10 वायलिन वादक, 3 वायोला वादक, 7 सेलो वादक, 1 डबल-बास वादक, 4 लोट वादक, 1 हर्फ वादक, 4, हार्न वादक, 2 क्लोरेनेट वादक, 3 ओबे वादक, 1 तुबा वादक, 2 श्लैगवर्क वादकों के साथ ही डोमिनिकन गणराज्य के 2 वायोला वादक, 1 सेलो वादक, 2 लोट वादक, 1 ट्रेबल ट्रॉम्बोन वादक, 1 हार्न वादक, 1 बास ट्राम्बोन वादक, 1 ट्रम्पिट वादक, 1 ट्रेबेल एवं बास-ट्रॉम्बोन वादक, 1 डबल-बास वादक एवं भारत के कई प्रमुख शहरों जैसे पुणे के 14 वायलिन वादक, नई दिल्ली के 2 वायलिन वादक, मुम्बई के 3 वायलिन वादक, कोलकाता के 1 वायलिन वादक, हैदराबाद के 2 वायलिन वादक तथा 1 सेलो वादक, दीमापुर के 3 वायलिन वादक तथा 3 वायोला वादक, चेन्नई के 1 वायलिन वादक, बेंगलुरू के 3 वायलिन वादक, 3 वाइला वादक, 2 सेलो वादक तथा 2 लूट वादक शामिल हैं। इसके अतिरिक्त इस भव्य पश्चिमी संगीत समारोह में वियना के 78 गायक भी अपनी आवाज़ का जादू बिखेंगे।

 

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Twitter, Facebook पर हमें फॉलो करें और हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

Most Popular

-Advertisement-

Facebook

To Top