सियासत

कांग्रेस का ऐलान, महागठबंधन के लिए इन 7 सीटों पर नहीं उतारेंगे अपने कैंडिडेट

कांग्रेस का ऐलान, महागठबंधन के लिए इन 7 सीटों पर नहीं उतारेंगे अपने कैंडिडेट

कांग्रेस का ऐलान, महागठबंधन के लिए इन 7 सीटों पर नहीं उतारेंगे अपने कैंडिडेट

Photo

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में भले ही कांग्रेस का बसपा और सपा के साथ महागठबंधन नहीं है परंतु उसने इसके बड़े संकेत देते हुए 7 लोकसभा सीटों पर अपने कैंडिडेट से उतारने के लिए ऐलान किया है। कांग्रेस ने इन सीटों पर अपने कैंडीडेट्स ना उतारने के लिए एक तरफ से महागठबंधन को वाक ओवर देने का फैसला लिया है। उत्तर प्रदेश में कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष राज बब्बर ने बसपा सपा और आरएलडी के महागठबंधन के लिए 7 सीटों पर अपने कैंडिडेट ना उतारने का ऐलान किया है। गौरतलब है कि पार्टी की महासचिव प्रियंका गांधी 4 दिनों के लिए उत्तर प्रदेश के दौरे पर हैं और इसी के साथ पार्टी के उत्तर प्रदेश अध्यक्ष राज बब्बर ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर के महागठबंधन के के प्रति पार्टी के सम्मान की बात कहकर बड़े संकेत देने की कोशिश की है।

राज बब्बर ने बताया कि फासीवादी सरकार को हराने के लिए कांग्रेस ने उत्तर प्रदेश में 7 सीटों पर अपने कैंडिडेट नहीं उतारने का फैसला लिया है। उन्होंने कहा हम एसपी बीएसपी और आरएलडी पार्टी के लिए यह सीट खाली छोड़ रहे हैं। इन 7 सीटों में मैनपुरी, कन्नौज, फिरोजाबाद और वे सीटें शामिल है जहां से पीएसपी सुप्रीमो मायावती और आरएलडी के जयंत जी व अजीत सिंह चुनाव लड़ेंगे। उन्होंने बताया हम पीलीभीत और गोंडा सीट से भी अपने कैंडिडेट नहीं उतार रहे हैं क्योंकि वह हमारे सहयोगी अपना दल अपने कैंडिडेट उतारेगी।

इसके साथ ही प्रदेश अध्यक्ष राज बब्बर ने अपनी दूसरी सहयोगी पार्टी महान दल के साथ सीट समझौते की बात दोहराई। उन्होंने कहा कि हमारी महान दल से पहले ही बात हो चुकी है उनका कहना है कि कांग्रेसी जो सीट उन्हें देगी उस पर उन्हें कोई आपत्ति नहीं होगी वह लोकसभा चुनाव लड़ना चाहते हैं। उन्होंने कहा है कि वह हमारे चुनाव निशान पर चुनाव लड़ेंगे जिस पर हम फैसला ले रहे हैं।

राज बब्बर ने पार्टी में तारीफ सिद्दीकी के पुनः वापस आने की बात भी कही है। उन्होंने एक बार फिर मोदी सरकार को फासीवादी करार देते हुए कहा कि देश को एक होकर इन ताकतों से लड़ना है। उन्होंने कहा है हम देख रहे हैं पिछले 5 सालों से देश में फासीवादी ताकते बड़ी हैं जो लोकतंत्र को खत्म करने की कोशिश कर रही हैं। बीजेपी के लोग कह रहे हैं कि अगर 2019 का चुनाव हम जीत गए तो इसके बाद चुनाव नहीं होंगे। बीजेपी के लोग नहीं चाहते कि किसी भी मामले में कोई भी विपक्ष उनके समक्ष अपोजिशन में खड़ा हो।

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Twitter, Facebook पर हमें फॉलो करें और हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

Most Popular

-Advertisement-

Facebook

To Top