समाचारअंतर्राष्ट्रीयविविधअपराधकानून-व्यवस्था

टिकटॉक के इस्तेमाल करने पर पांच महिलाओं को दो साल के लिए जेल भेजा गया

टिकटॉक के इस्तेमाल करने पर पांच महिलाओं को दो साल के लिए जेल भेजा गया

टिकटॉक के इस्तेमाल करने पर पांच महिलाओं को दो साल के लिए जेल भेजा गया

Photo

टिकटॉक के इस्तेमाल करने पर सजा और 14 लाख रुपए का जुर्माना-

मिस्र में सोमवार को पांच महिलाओं को टिकटॉक के इस्तेमाल पर दो-दो साल की सजा सुनाई गई। इन पर समाज का माहौल खराब करने का आरोप भी लगाया गया। हर महिला पर तीन लाख इजिप्शियन पाउंड ( करीब 14 लाख रुपए) का जुर्माना भी देना होगा।

इन महिलाओं में हनीम होसाम और मोवादा अल-अधम भी शामिल हैं। सोशल मीडिया पर इनके लाखों फॉलोअर हैं। होसाम ने टिकटॉक पर तीन मिनट का वीडियो डालकर 13 लाख फॉलोवर्स से कहा था- लड़कियां मेरे साथ काम करके पैसे कमा सकती हैं। वहीं, अधम ने टिकटॉक और इंस्टाग्राम पर कई वीडियो डालकर सरकार पर तंज कसे थे। ये वीडियो सामने आने के बाद अप्रैल में होसाम को और मई में अधम को गिरफ्तार किया गया था।

टिकटॉक महिलाओं की गिरफ्तारी के बाद देश में शुरू हुई बहस-

इन महिलाओं की गिरफ्तारी के बाद देश में रूढ़िवाद के साथ ही सामाजिक विभाजन को लेकर बहस छिड़ गई है। लोगों का कहना है कि टिकटॉक की ये महिलाएं बहुत अमीर घरों से नहीं थीं, सजा के नाम पर और 14 लाख रुपए का जुर्माना को लेकर  इन्हें निशाना बनाया गया। मानवाधिकार वकील तारेक अल-अवदी ने कहा- इन गिरफ्तारियों से पता चलता है कि मॉडर्न कम्युनिकेशन टेक्नोलॉजी के समय में एक रूढ़िवादी समाज कैसे लोगों पर काबू पाना चाहता है। तकनीकि क्रांति हो रही है और सरकार को इसे स्वीकारना चाहिए।

मिस्र के 40% आबादी की इंटरनेट तक पहुंच-

मिस्र में इंटरनेट के इस्तेमाल के बहुत सख्त नियम हैं। अधिकारी राष्ट्रीय सुरक्षा का खतरा बताकर कोई भी वेबसाइट बंद कर सकते हैं। यहां पांच हजार से ज्यादा फॉलोअर वाले हर सोशल मीडिया अकाउंट की निगरानी की जाती है। मिस्र के 10 करोड़ से ज्यादा की आबादी में 40% की पहुंच इंटरनेट तक हो गई है।

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Twitter, Facebook पर हमें फॉलो करें और हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

Most Popular

-Advertisement-

Facebook

To Top