शिक्षा

कैरेक्टर एजूकेशन एण्ड फ्यूचर इम्पैक्ट विषय पर अन्तर्राष्ट्रीय सम्मेलन CMS में आज से प्रारम्भ

कैरेक्टर एजूकेशन एण्ड फ्यूचर इम्पैक्ट विषय पर अन्तर्राष्ट्रीय सम्मेलन CMS में आज से प्रारम्भ

कैरेक्टर एजूकेशन एण्ड फ्यूचर इम्पैक्ट विषय पर अन्तर्राष्ट्रीय सम्मेलन CMS में आज से प्रारम्भ

Photo

लखनऊ, 1 फरवरी। सिटी मोन्टेसरी स्कूल के तत्वावधान में ‘कैरेक्टर एजूकेशन एण्ड फ्यूचर इम्पैक्ट’ विषय पर दो-दिवसीय अन्तर्राष्ट्रीय सम्मेलन कल 2 फरवरी, शनिवार से सी.एम.एस. कानपुर रोड ऑडिटोरियम में प्रारम्भ हो रहा है। माध्यमिक एवं उच्चशिक्षा के एडीशनल चीफ सेक्रेटरी, श्री राजेन्द्र कुमार तिवारी, आई.ए.एस., कल 2 फरवरी को प्रातः 9.00 बजे  सी.एम.एस. कानपुर रोड ऑडिटोरियम में बतौर मुख्य अतिथि पधारकर इस अन्तर्राष्ट्रीय सम्मेलन का उद्घाटन करेंगे। सी.एम.एस. के मुख्य जन-सम्पर्क अधिकारी श्री हरि ओम शर्मा ने बताया कि इस अन्तर्राष्ट्रीय सम्मेलन में प्रतिभाग हेतु जार्जिया, ईरान, कतर, इंग्लैण्ड, अमेरिका एवं भारत के विभिन्न प्रान्तों से प्रख्यात शिक्षाविद् लखनऊ पधारे हैं, जो एक अन्तर्राष्ट्रीय मंच पर बच्चों के चारित्रिक उत्थान एवं नैतिक विकास पर सार्थक चर्चा-परिचर्चा करेंगे, जिसका लाभ सारे विश्व समुदाय को मिलेगा।

श्री शर्मा ने बताया कि इस अन्तर्राष्ट्रीय सम्मेलन के प्रमुख वक्ताओं में श्रीमती दारा फेडमैन, फाउन्डिंग चेयरपरसन, वर्चुस प्रोजेक्ट इण्टरनेशनल, अमेरिका, श्री ज्योफ स्मिथ, फाउण्डर मेम्बर, यूके एसोसिएशन ऑफ कैरेक्टर एजूकेशन, इंग्लैण्ड, श्री शमीम मोवाहेद, हेड ऑफ म्यूजिक आर्केस्ट्रा, जार्जिया, डा. सर्वेन्द्र विक्रम बहादुर सिंह, डायरेक्टर, बेसिक एजूकेशन, उ.प्र., सुश्री नारायणी गणेश, एसोसिएट एडीटर, टाइम्स ऑफ इण्डिया, नई दिल्ली, श्रीमती सुनीता ऐरन, रेजीडेन्ट एडीटर, हिन्दुस्तान टाइम्स, लखनऊ, सुश्री रजिया इस्माइल, फाउण्डर-डायरेक्टर, इण्डिया एलायन्स ऑन चाइल्ड राइट्स, नई दिल्ली, डा. हामेद मोहाजिर, लेखक, श्री दीपक दलाल, लेखक, श्रीमती सुनिति झा, सेक्रेटरी, न्यू इरा फाउण्डेशन, महाराष्ट्र, श्री पेमेन सोगी, प्रधानाचार्य, रीवरडेल इण्टरनेशनल स्कूल, पुणे, श्रीमती सुनीता फड़के, प्र्रधानाचार्या, विद्यांचल स्कूल, पुणे, सुश्री शालिनी सिन्हा, प्रधानाचार्या, स्टडी हाल स्कूल, लखनऊ, श्रीमती नलिनी सेनगुप्ता, प्रधानाचार्या, विद्या वैली स्कूल, पुणे आदि प्रमुख हैं।

श्री शर्मा ने कहा कि सी.एम.एस. का मानना है कि शिक्षा हमेशा समयानुकूल होनी चाहिए। हमें उत्कृष्टता तो लानी ही है परन्तु शिक्षा को सार्थक व उपयोगी बनाने के लिए हमें मानवीय गुणों की शिक्षा को महत्ता देनी होगी। श्री शर्मा ने विश्वास किया कि यह अन्तर्राष्ट्रीय शैक्षिक सम्मेलन का उद्देश्य एक सार्थक व नवीन शिक्षा पद्धति का निर्माण करने में मील का पत्थर साबित होगा, जिससे वर्तमान शिक्षा में सकारात्मक तथा प्रभावशाली परिवर्तन के द्वारा उद्देश्यपूर्ण शिक्षा के लक्ष्य को प्राप्त किया जा सके।

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Twitter, Facebook पर हमें फॉलो करें और हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

Most Popular

-Advertisement-

Facebook

To Top