उत्तर प्रदेश

आरोपी प्रशांत के बचाव में आया थाने का स्टाफ, कहा शस्त्र हमें आत्मरक्षा के लिए दिया जाता है

आरोपी प्रशांत के बचाव में आया थाने का स्टाफ, कहा शस्त्र हमें आत्मरक्षा के लिए दिया जाता है

आरोपी प्रशांत के बचाव में आया थाने का स्टाफ, कहा शस्त्र हमें आत्मरक्षा के लिए दिया जाता है

Photo

लखनऊ। लखनऊ में हुए विवेक तिवारी हत्याकांड से पुलिस प्रशासन से लेकर सरकार तक हड़कंप मचा हुआ है, और अब सेल्फ डिफेंस में गोली चलाने वाले आरोपी सिपाही प्रशांत के पक्ष में गोमतीनगर थाने के सभी सिपाही आ गए हैं। इस पूरे मामले पर यूपी में राजनीतिक अफरा तफरी मच गई है। विवेक तिवारी का लखनऊ के बैकुंठ धाम में अंतिम संस्कार कर दिया गया।

वहीं यूपी के कानून मंत्री ब्रजेश पाठक और योगी सरकार में मंत्री आशुतोष टंडन ने विवेक के परिवार से मुलाकात करने पहुंचे हैं। घटना के बाद आरोपी सिपाही प्रशांत चौधरी की तहरीर पर गोमतीनगर थाने में मुकदमा दर्ज न किए जाने से नाराज सिपाहियों में काफी गुस्सा और आक्रोश है।

थाने में तैनात एक सिपाही ने बताया कि इस घटना के बाद हमारे साथी सिपाही के खिलाफ आईपीसी की धारा 302 के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया गया है, लेकिन कॉन्स्टेबल की तरफ से कोई मुकदमा नहीं लिखा गया है कि उन पर भी हत्या का प्रयास हुआ था। इससे थाने के सभी सिपाहियों को दुख है और हमारा मनोबल भी काफी गिरा हुआ है।

गौरतलब है कि आरोपी की पत्नी राखी मालिक भी गोमतीनगर थाने में ही तैनात है। इसके साथ ही सिपाही ने कहा कि 'जो शस्त्र हमें आत्मरक्षा के लिए दिया जाता है या जनता की सुरक्षा के लिए दिया जाता है, जिसे हम आवश्यकता पड़ने पर चला ही नहीं सकते, जिसे हमने नौकरी ज्वाइन करने से पहले सुना था, जो सच साबित होते देख रहा हूं।' सिपाही ने अपना मत रखते हुये कहा कि 'हम तो अपने साथी को देखकर रो भी नहीं सकते, इंसाफ मांगने की बात तो दूर है।' ऐसे में यह भी बड़ा सवाल उठता है कि आरोपी सिपाही की तहरीर पर मुकदमा क्यों नहीं लिखा जा रहा है, जबकि सभी को अपना पक्ष रखने का समान समवैधानिक अधिकार है?

ज्ञात हो कि लखनऊ के गोमती नगर में शनिवार को 1.30 पर मकदूमपुर पुलिस चौकी के पास दो सिपाहियों ने एसयूवी में सवार विवेक तिवारी को गोली चला दी थी। जिससे सिर पर गोली लगने से विवेक की मौके पर ही मौत हो गई थी।

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Twitter, Facebook पर हमें फॉलो करें और हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

Most Popular

-Advertisement-

Facebook

To Top