राष्ट्रीय

मोदी CBI डायरेक्टर को हटाने के साथ सबूत भी मिटा रहे : राहुल गाँधी

मोदी CBI डायरेक्टर को हटाने के साथ सबूत भी मिटा रहे : राहुल गाँधी

मोदी CBI डायरेक्टर को हटाने के साथ सबूत भी मिटा रहे : राहुल गाँधी

Photo

राहुल गांधी ने दिल्ली में प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए कहा है कि प्रधानमंत्री मोदी के राफेल में भ्रष्टाचार को छुपाने के लिए CBI डायरेक्टर को हटाया गया है। राहुल गांधी ने कहा है कि CBI को रात के 2 बजे हटाया, इससे साफ पता चलता है कि मोदी राफेल की जांच से डरे हुए हैं। राहुल ने कहा कि भ्रष्टाचार को बचाने के लिए मोदी एक के बाद एक झूठ बोल रहे हैं और कानून संविधान की परवाह नहीं कर रहे हैं लेकिन वो एक दिन पकड़े जाएंगे। 

राहुल ने कहा, "अगर CBI जांच शुरु हो जाती तो दूध का दूध, पानी का पानी हो जाता और इससे डरकर प्रधानमंत्री ने CBI डायरेक्टर को ही हटा दिया। CBI निदेशक को मोदी जी ने रात के 2 बजे हटाया। पूरा देश जानता है कि प्रधानमंत्री ने भ्रष्टाचार किया है। प्रधानमंत्री जानते हैं कि यदि राफेल की जांच शुरु हो गयी तो वो खत्म हो जायेंगे और यही उनकी घबराहट है लेकिन देश प्रधानमंत्री को उनके भ्रष्टाचार को भूलने नहीं देगा।"

राहुल गाँधी ने यह भी कहा कि बिना चीफ जस्टिस और विपक्ष के नेता की सलाह के CBI डायरेक्टर को हटा देना गैरकानूनी है। प्रधानमंत्री ने खुद से CBI डायरेक्टर को हटाकर संविधान का अपमान किया है, हकीकत ये है कि CBI को खत्म किया जा रहा है। राहुल ने कहा कि प्रधानमंत्री सिर्फ CBI डायरेक्टर को ही नहीं हटा रहे हैं, बल्कि सबूतों को मिटाने का काम भी कर रहे हैं।

उन्होंने कहा, प्रधानमंत्री ने 30 हजार करोड़ का भ्रष्टाचार किया है। ये पैसा अनिल अंबानी की जेब में डाला गया है और अब जो भी इस पर बात करता है, उसे चुप कर दिया जा रहा है। CBI डायरेक्टर ने मामले की जांच के लिए कागजात इकट्ठा करने शुरू किए तो उनको हटा दिया गया और अपनी मर्जी के आदमी को कार्यभार सौंप दिया गया।
 

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Twitter, Facebook पर हमें फॉलो करें और हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

Most Popular

-Advertisement-

Facebook

To Top