उत्तर प्रदेश

रेयान इंटरनेशनल स्कूल की मान्यता होगी रद्द व राजद्रोह का मामला भी हो सकता है दर्ज

रेयान इंटरनेशनल स्कूल की मान्यता होगी रद्द व राजद्रोह का मामला भी हो सकता है दर्ज

रेयान इंटरनेशनल स्कूल की मान्यता होगी रद्द व राजद्रोह का मामला भी हो सकता है दर्ज

Photo

शाहजहांपुर. दरअसल हम बात कर रहे हैं यूपी के शाहजहांपुर में रेयान इंटरनेशनल स्कूल की जो सवालों के घेरे में आ चुका है। खास बात ये है कि इस स्कूल की मान्यता रद्द करने के लिए DM ने CBSE बोर्ड को लिखा है। क्योंकि राष्ट्रीय पर्व 15 अगस्त के दिन रेयान इंटरनेशनल स्कूल में ध्वजारोहण नहीं किया गया था। जिसके बाद छात्र-छात्राओं के अभिभावकों ने जन सुनवाई पोर्टल पर इसकी शिकायत की। जिस पर DM ने संज्ञान लिए जाने के बाद मामले की LIU जांच कराई गई और आरोप सही पाए गए। जिसके आधार पर DM और DIOS ने स्कूल प्रबंधन और प्रिंसिपल के खिलाफ कठोर कार्रवाई और CBSE बोर्ड को मान्यता रद्द करने के लिए लिखा है।

अभिभावकों ने इस स्कूल की जानकारी जन सुनवाई पोर्टल पर की। जिसके बाद मुख्यमंत्री कार्यालय से इस गंभीर मामले की जांच कर कार्रवाई के आदेश दिए गए। जिसके बाद जिला प्रशासन हरकत में आया और इसकी LIU जांच कराई गई। जिसमे रेयान इंटरनेशनल स्कूल की सच्चाई सामने आई कि 15 अगस्त से पहले ही स्कूल प्रबंधन ने स्कूल में पढ़ने वाले अभिभावकों को सूचित कर दिया था कि स्वतंत्रता दिवस के दिन बच्चों को स्कूल नहीं आना है। इस दिन पर छुट्टी रहेगी और साथ ही इस पर्व पर स्कूल में ध्वजारोहण भी नहीं किया गया। अब DM ने रिपोर्ट के आधार पर CBSE बोर्ड को रेयान इंटरनेशनल स्कूल की मान्यता रद्द और स्कूल की प्रिंसिपल के खिलाफ राजद्रोह का मुकदमा दर्ज करने की प्रबल संस्तुति की है।

जताया जा रहा है बहुत जल्द स्कूल प्रबंधन और स्कूल के प्रिंसिपल पर बड़ी कार्रवाई की जाए। जिला विद्यालय निरीक्षक केएल वर्मा ने बताया कि रेयान इंटरनेशनल स्कूल में 15 अगस्त (स्वतंत्रता दिवस) को ध्वजारोहण नहीं किया गया था। जिसकी शिकायत अभिभावकों ने जन सुनवाई पोर्टल पर की थी। जिसका संज्ञान लेते हुए DM नरेंद्र सिंह ने हमें इसकी जांच करने के लिए कहा था। हमने इसकी जांच राजकीय बालिका विद्यालय के प्रिंसिपल से कराई।

जांच में प्रिंसिपल ने रेयान इंटरनेशनल स्कूल के प्रबंधन, टीचर, प्रिंसिपल और अभिभावकों के बयान पर ये स्पष्ट हुआ कि स्वतंत्रता दिवस के दिन स्कूल में ध्वजारोहण नहीं हुआ है। जांच में स्कूल के प्रिंसिपल ने बताया कि 15 अगस्त के दिन जन्माष्टमी पर्व होने के कारण उन्होंने बच्चों की छुट्टी कर दी थी। यही रिपोर्ट हमने DM को भेज दी है, जिसके बाद DM ने CBSE बोर्ड को स्कूल की मान्यता और उनके खिलाफ राजद्रोह का मुकदमा दर्ज करने की प्रबल दावा प्रस्तुत किया है।

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Twitter, Facebook पर हमें फॉलो करें और हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

Most Popular

-Advertisement-

Facebook

To Top