मुद्दा

उत्तर प्रदेश के बलिया जिले में वोट डालेंगी सन्नी लियॉन

उत्तर प्रदेश के बलिया जिले में वोट डालेंगी सन्नी लियॉन

उत्तर प्रदेश के बलिया जिले में वोट डालेंगी सन्नी लियॉन

Photo

बॉलीवुड अभिनेत्री सनी लियोनी भले ही मुम्बई में रहती हों लेकिन उनकी मौजूदगी उत्तर प्रदेश के बलिया जिले की मतदाता सूची में दर्ज हो गई है। यही नहीं हाथी, हिरन और कबूतर की तस्वीरें भी इस सूची में शामिल हैं। जिला प्रशासन ने आगामी लोकसभा चुनाव के लिए बनाई जा रही मतदाता सूची में हुई इस गम्भीर गड़बड़ी के खुलासे के बाद एक संविदा कर्मी के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कराते हुए उसकी सेवा समाप्ति की सिफारिश की है।

निर्वाचन आयोग ने मामले की उच्च स्तरीय जांच के आदेश दिए गए हैं। उसका कहना है कि सूची में व्याप्त गलतियों को ठीक कर लिया गया है। अब अंतिम सूची में सम्बन्धित मतदाताओं की सही तस्वीर प्रकाशित होगी। बलिया के अपर जिलाधिकारी मनोज कुमार सिघल ने आज 'भाषा' को बताया कि डाटा ऑपरेटर विष्णु वर्मा ने अपने स्थानांतरण से नाराज होकर बलिया नगर विधानसभा क्षेत्र की मतदाता सूची में सात नामों में गड़बड़ी करते हुए मतदाता के फोटो के स्थान पर सनी लियोनी, हाथी, मोर और कबूतर के फोटो लगा दिए हैं।

उन्होंने बताया कि आरोपी ऑपरेटर ने 361 बलिया नगर सामान्य विधानसभा क्षेत्र के मतदाता पुनरीक्षण सूची 2018 के परिशिष्ट संख्या 2 के क्रमांक 906 UBQ 2878866 में दुर्गावती सिह के नाम के सामने सनी लियोनी का फोटो लगा दिया है। इसी तरह प्रदेश की पूर्ववर्ती अखिलेश यादव सरकार में मंत्री रहे नारद राय के क्रमांक 1174 UBQ 2299832 पर उनकी फोटो के स्थान पर हाथी की तस्वीर लगा दी है।

इसके अलावा कुँवर अंकुर सिह के नाम के आगे हिरन का, तथा कुँवर गौरव के नाम के आगे कबूतर का फोटो अपलोड कर दिया है। सिंघल ने बताया कि ऑपरेटर विष्णु वर्मा आउटसोर्सिंग के जरिए नियुक्त है। जिला प्रशासन ने सम्बन्धित संस्था को पत्र लिखकर वर्मा को बर्खास्त करने की संस्तुति की है।

मतदाता सूची की इस गड़बड़ी की जानकारी चुनाव आयोग को दे दी गई है और सूची में हुई गलती को दुरुस्त कर लिया गया है। पुलिस अधीक्षक श्रीपर्णा गांगुली ने बताया कि बलिया के तहसीलदार सहायक निर्वाचन अधिकारी राम नारायण वर्मा की शिकायत पर वर्मा के विरुद्ध बलिया कोतवाली में मुकदमा दर्ज किया गया है। इस मामले की विवेचना की जा रही है।

इस बीच, निर्वाचन आयोग की तरफ से जारी बयान के मुताबिक मामले की शुरुआती जांच में पाया गया है कि सम्बन्धित विधानसभा में कार्यरत डाटा इंट्री ऑपरेटर विष्णु वर्मा पर स्थानीय लेखपाल से मारपीट के आरोप थे। इसी वजह से उसे बलिया नगर विधानसभा से हटाया गया था। इसी से नाराज होकर उसने मतदाता सूची के 'आलेख’ में गड़बड़ी की है।

आयोग के अनुसार सूची में की गयी गड़बड़ियों को ठीक कर दिया गया है और आगामी एक सितम्बर को एकीकरण के बाद प्रस्तावित मतदाता सूची के अंतिम प्रकाशन में सम्बन्धित मतदाताओं की सही तस्वीर छापी जाएगी। बहरहाल, मामले की उच्चस्तरीय जांच के आदेश भी दिए गए हैं और सभी जिलों को ताकीद की गई है कि वे एक सितम्बर को अंतिम प्रकाशन से पहले मतदाता सूचियों को अच्छी तरह जांच लें, ताकि इस प्रकार की गड़बड़ी ना हो पाए।

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Twitter, Facebook पर हमें फॉलो करें और हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

Most Popular

-Advertisement-

Facebook

To Top