उत्तर प्रदेश

दलित की बेटी ने कहा बारात घर न बने, हमें स्वीकार है, हमारे लिये शौचालय ज्यादा जरूरी है

दलित की बेटी ने कहा बारात घर न बने, हमें स्वीकार है, हमारे लिये शौचालय ज्यादा जरूरी है

दलित की बेटी ने कहा बारात घर न बने, हमें स्वीकार है, हमारे लिये शौचालय ज्यादा जरूरी है

Photo

अमेठी. शनिवार को केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने उत्तर प्रदेश में अमेठी कोतवाली अंतर्गत रायपुर फुलवारी दलित बस्ती पर बारात घर की सौगात देते हुए उद्घाटन किया। इस बीच दलित समुदाय की पीड़ित बेटी ने स्मृति ईरानी को बताया कि बीजेपी नेता राजेश मसाला के कहने पर प्रशासन ने उनकी ज़मीन और शौचालय को उजाड़ दिया है जबकि ये हमारी पुशतैनी ज़मीन है। इस पर खड़ी इमारत और शौचालय गिराने की नोटिस जारी की गई है। इस पर केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने आश्वासन दिया कि उसकी समस्या का जल्द से जल्द समाधान किया जाएगा।

वहीं पीड़िता ने कहा कि बारात घर न बने, हमें स्वीकार है, हमारे लिये शौचालय ज्यादा जरूरी है। यहां पर जब बस्ती बन जायेगी तो हम शौच के लिये बाहर तो जायेगें नहीं। पीड़िता ने केंद्रीय मंत्री के अमेठी में विकास के दावों की पोल खोलते हुए कहा हम लोगों को योजनाओं का लाभ नहीं मिलता, इस एरिये में विकास हुआ ही नहीं। पानी ढोकर लाना पड़ता है, लड़कियां खेत में काम करती हैं तो अपनी पढ़ाई का खर्च उठाती हैं।

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Twitter, Facebook पर हमें फॉलो करें और हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

Most Popular

-Advertisement-

Facebook

To Top