मुद्दा

दिल्ली में जमा हुए संतों ने PM मोदी को बताया "भगवान राम का अवतार"

दिल्ली में जमा हुए संतों ने PM मोदी को बताया भगवान राम का अवतार

दिल्ली में जमा हुए संतों ने PM मोदी को बताया "भगवान राम का अवतार"

Photo

राम मंदिर के लिए दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में जमा हुए संतो ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भगवान राम का अवतार बताया है. सम्मेलन में एक संत ने यहां तक कह दिया कि न्यायपालिका से मदद नहीं मिलगी क्योंकि यह मंदिर विरोधी लोगों से भरा हुआ है। 

बता दें कि अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर साधु-संत लगातार सरकार पर दबाव बनाने में जुटे हैं. राम मंदिर निर्माण के लिए देश भर से 3 हजार साधु- संत दिल्ली के ताल कटोरा स्टेडियम में जमा हुए हैं. संतों का कहना है कि अयोध्या में राम मंदिर से कम कुछ भी मंजूर नहीं है. आज सम्मेलन का आखिरी दिन है। 

दिल्ली में संतों की 'धर्मा देश' बैठक शनिवार को शुरू हुई. अखिल भारतीय संत समिति के महामंत्री स्वामी जितेंद्रानंद सरस्वती ने इस दौरान कहा कि संत समाज देश के अलग-अलग मुद्दों पर चर्चा करेंगे. धर्मा देश में साधु-संत राम मंदिर निर्माण के लिए सरकार पर आदेश लाने के लिए मांग करेंगे। 

इस दौरान वाजपेयी सरकार में केंद्रीय मंत्री रहे स्वामी चिन्मयानंद ने कहा कि विपक्षी समूहों से बातचीत करने की सारी संभावना खत्म हो चुकी है. सम्मेलन में पहुंचे अधिकतर लोगों ने राम मंदिर पर कानून लाने की मांग की। 

वहीं राम जन्मभूमि न्यास सदस्य राम विलास वेदांती ने कहा कि मंदिर किसी विधेयक या कानून के जरिए नहीं बल्कि आपसी रजामंदी से राम मंदिर बन सकता है. उन्होंने चेताया कि अगर ऐसा नहीं हुआ तो कोई भी सांप्रदायिक दंगे रोक नहीं पाएगा। 

वेदांती ने कहा कि- वह अयोध्या में विराजमान रामलला से प्रार्थना करते हैं कि वे पीएम मोदी और बाकी सभी को सदबुद्धि दें ताकि रामलला का भव्य मंदिर दिसंबर से बनना शुरू हो सके. वेदांती ने आश्वासन दिया कि अगर अयोध्या में राम मंदिर बना तो लखनऊ में खुदा के नाम पर एक मस्जिद बनेगा। 

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Twitter, Facebook पर हमें फॉलो करें और हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

Most Popular

-Advertisement-

Facebook

To Top