शिक्षा

देश-विदेश के छात्रों के बीच क्विज, वाद-विवाद एवं रोबोट रेस प्रतियोगिताओं में कड़ी प्रतिस्पर्धा

देश-विदेश के  छात्रों के बीच क्विज, वाद-विवाद एवं रोबोट रेस प्रतियोगिताओं में कड़ी प्रतिस्पर्धा

देश-विदेश के छात्रों के बीच क्विज, वाद-विवाद एवं रोबोट रेस प्रतियोगिताओं में कड़ी प्रतिस्पर्धा

Photo

लखनऊ, 26 नवम्बर। सिटी मोन्टेसरी स्कूल, चौक द्वारा आयोजित चार दिवसीय अन्तर्राष्ट्रीय विज्ञान ओलम्पियाड ‘क्वान्टा-2018’ के तीसरे दिन आज विभिन्न प्रतियोगिताओं में देश-विदेश के छात्रों के बीच कड़ी प्रतिस्पर्धा देखने को मिली। जहाँ एक ओर क्विज, वाद-विवाद एवं साइंस क्विज आदि प्रतियोगिताओं में 9 देशों से पधारे बाल वैज्ञानिको ने अपने ज्ञान-विज्ञान का लोहा मनवाया तो वहीं दूसरी ओर ऑब्सटेकल रोबोट रेस में प्रतिभागी छात्रों की वैज्ञानिक सोच व रचनात्मकता, कल्पनाशीलता व विज्ञान का गहरा ज्ञान देखते ही बनता था। इस प्रतियोगिता में देश-विदेश के प्रतिभागी छात्रों द्वारा स्वनिर्मित रोबोट की बाधा दौड़ का अद्भुद प्रदर्शन अपने आप में एक सुखद अनुभव था जिसने अन्तर्राष्ट्रीय स्तर के वैज्ञानिकों को भी अचम्भित कर दिया। इससे पहले आज प्रातः बड़े ही उल्लासपूर्ण वातावरण में आज की प्रतियोगिताओं का शुभारम्भ हुआ।  इस अवसर पर सी.एम.एस. संस्थापक व प्रख्यात शिक्षाविद् डा. जगदीश गाँधी ने देश-विदेश से पधारे बाल वैज्ञानिकों का भरपूर मार्गदर्शन किया।

आज प्रातः सत्र  में आयोजित ‘क्विज (मेन्टल एबिलिटी टेस्ट) प्रतियोगिता अत्यन्त रोचक रही और देश-विदेश के प्रतिभागी छात्रों का यांत्रिकी ज्ञान व हुनर देखने लायक था। इस प्रतियोगिता में देश-विदेश के 24 छात्रों ने प्रतिभाग किया, जिसका संचालन क्विज मास्टर श्री तरूष जैन ने किया। इस प्रतियोगिता में लिखित राउण्ड में पास हुए 24 प्रतियोगी चुने गए थे जिनमें से एलिमिनेशन राउण्ड के बाद 6 प्रतियोगी फाईनल राउण्ड के लिए चुने गए थे। इसी प्रकार ऑब्सटेकल रोबोट रेस प्रतियोगिता में भी 44 टीमों ने प्रतिभाग किया। प्रत्येक टीम में दो छात्र शामिल थे जिनके स्वनिर्मित बैटरी से चलने वाले रोबोट ने बाधा दौड़ में हिस्सा लिया। देश-विदेश के प्रतिभागी छात्रा द्वारा डिजाइन किये इन रोबोट ने प्रत्येक रुकावट को कूद कर पार किया एवं अपने लक्ष्य पर पहुंचे। इस प्रतियोगिता में छात्रों ने दिखाया कि ऐसे रोबोट दैनिक कार्यों व माइनिंग अथवा सड़क पर कई जगह इस्तेमाल किये जा सकते हैं जिससे मनुष्य का जीवन और सरल हो जाये।

अपरान्हः सत्र में ही आयोजित ‘वाद-विवाद प्रतियोगिता’ ने भी प्रतिभागी छात्रों व दर्शकों को ज्ञान की गंगा में डूबने का अभूतपूर्व अवसर दिया। प्रतियोगिता का विषय था ‘माईण्ड योर कोडिंग लैन्ग्वेज। इज इन्फार्मेशन टेक्नोलॉजी द बैकबोन ऑफ ए नेशन्स इन्टरनेशनल पावर एण्ड एन्फ्लुएन्स?’’। इस प्रतियोगिता में देश-विदेश की छात्र टीमों ने प्रतिभाग किया जिन्होंने अपनी तर्कपूर्ण अभिव्यक्ति से सूचना प्रौद्योगिकी की आवश्यकता एवं उपयोगिता पर प्रकाश डाला। इस प्रतियोगिता का संचालन श्रीमती मंजू नौटियाल ने किया। इसके अलावा आज साइंस क्विज प्रतियोगिता का लिखित राउण्ड भी सम्पन्न हुआ, जिसके माध्यम से फाइनल राउण्ड हेतु प्रतिभागी छात्र टीमों का चयन किया गया। इस क्विज प्रतियोगिता का फाइनल राउण्ड, कल 27 नवम्बर को क्वान्टा-2018 के अन्तिम दिन प्रातःकालीन सत्र में आयोजित जायेगा जिसमें चयनित टीमें अपने ज्ञान-विज्ञान का परचम लहरायेंगी।

प्रतियोगिताओं के अलावा आज सायंकालीन सत्र में देश-विदेश से पधारे छात्रों व टीम लीडरों के सम्मान में रात्रिभोज एवं साँस्कृतिक संध्या का विशेष आयोजन सी.एम.एस. गोमती नगर (द्वितीय कैम्पस) ऑडिटोरियम में किया गया। इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में पधारे नगर आयुक्त, नगर निगम, लखनऊ श्री इन्द्रमणि त्रिपाठी, ने समारोह की भूरि-भूरि प्रशंसा करते हुए कहा कि छात्रों में विज्ञान के प्रति इतनी जिज्ञासा और रुचि देखने को मिल रही है कि निश्चित ही यह बच्चे एक दिन नई खोज करेंगे और मानवता के लिए एक नया इतिहास रचेंगे। समारोह में सी.एम.एस. छात्रों ने रंगारंग शिक्षात्मक-साँस्कृतिक कार्यक्रमों की इन्द्रधनुषी छटा बिखेरकर सभी को मंत्रमुग्ध कर दिया।

सी.एम.एस. के मुख्य जन-सम्पर्क अधिकारी श्री हरि ओम शर्मा ने बताया कि यह अन्तर्राष्ट्रीय क्वान्टा-2018 बहुत ही सफलतापूर्वक अपने समापन की ओर बढ़ रहा है। कल, 27 नवम्बर को ‘क्वान्टा-2018’ के समापन से पूर्व अपरान्हः 3.00 बजे सी.एम.एस. कानपुर रोड ऑडिटोरियम में भव्य ‘साँस्कृतिक संध्या’ का आयोजन किया गया है, जिसमें 9 देशों से पधारे प्रतिभागी छात्र अपने-अपने देश के लोकनृत्यों की इंद्रधनुषी छटा बिखेरकर ‘वसुधैव कुटुम्बकम’ की भावना को चरितार्थ करेंगे। इसके उपरान्त पुरस्कार वितरण व समापन समारोह अपरान्ह 4.00 बजे आयोजित होगा। 

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Twitter, Facebook पर हमें फॉलो करें और हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

Most Popular

-Advertisement-

Facebook

To Top