होम ऐसा क्या हुआ कि थाने से लौटने पर युवती ने मौत को लगाया गले

उत्तर प्रदेश

ऐसा क्या हुआ कि थाने से लौटने पर युवती ने मौत को लगाया गले

ऐसा क्या हुआ कि थाने से लौटने पर युवती ने मौत को लगाया गले

ऐसा क्या हुआ कि थाने से लौटने पर युवती ने मौत को लगाया गले

मैनपुरी. UP पुलिस अपने कारनामों की वजह से आए दिन विवादों से घिरी रहती है। ऐसा ही एक नया मामला मैनपुरी का है जहाँ पुलिस के खौफ से एक 18 वर्षीय युवती को अपनी जान देनी पड़ी। अब मां का रो-रो कर बुरा हाल है कि अपनी बेकसूर पुत्री को थाने जाने ही क्यों दिया।

ये पूरा मामला यूपी के मैनपुरी के थाना घिरोर क्षेत्र के नगला सिकरवार का है जहां कुछ दिन पूर्व एक लड़की अपने प्रेमी के साथ भाग गयी थी। जिसकी पूछताछ के लिए पुलिस ने भागी हुयी लड़की की सहेली सरोज के पिता को थाने बुला लिया, और उसकी 18 वर्षीय पुत्री सरोज को भी थाने बुलवाने का दवाब बनाया। जिसके बाद उसके परिजन उसे थाने लेकर गए जहां पुलिस कर्मियो ने उसे अकेले में पूछताछ के नाम पर डराया धमकाया।

सरोज के परिजनों के अनुसार जब वह थाने से निकली तो बहुत ही डरी और सहमी हुयी थी। परिजनों के पूछने पर उसने बताया था कि पुलिस सहेली के बारे में पूछ रही है जबकि मुझे उसकी कोई जानकारी नहीं है। उसने यह भी कहा कि पुलिस ने मुझे और पिताजी को जेल भेजने की धमकी दी है। लड़की के भाई रमेश ने बताया थाने से घर लौट कर आने के बाद पुलिस का खौफ उसके चेहरे पर साफ दिखाई दे रहा था। युवती की माँ ने बताया वो बार-बार यही कह रही थी पुलिस उसे उठा ले जायेगी। मैंने कहा था चाहे जितना पैसा खर्च हो जाए मैं तुम्हे पुलिस को नही ले जाने दूंगी। उसने अपना दर्द अपने चाचा को भी बताया था, परंतु पुलिस के खौफनाक चेहरे के सामने गरीबो के हौसले इतने बौने साबित हुए कि अगले ही दिन सरोज ने कमरे के अंदर फांसी लगा कर अपनी जान दे दी।

वहीं इस पूरे मामले पर चौकी इंचार्ज घिरोर ने आरोपों को नकारते हुए कहना है कि वह परिजनों की डांट से डर गयी थी जिसके चलते उसने आत्महत्या की। ऐसा पता चला है फिर भी जांच की जा रही जो भी दोषी होगा उसपर कार्यवाही होगी। पीड़ित परिवार पुलिस की इस कार्यशैली से बेहद आहत और निराश है।

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Twitter, Facebook पर हमें फॉलो करें और हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

Most Popular

(Last 14 days)

-Advertisement-

Facebook

To Top