होम जेटली को याद आए राहुल गांधी, मानी उनकी ये मांग

अर्थव्यवस्था

जेटली को याद आए राहुल गांधी, मानी उनकी ये मांग

जेटली को याद आए राहुल गांधी, मानी उनकी ये मांग

जेटली को याद आए राहुल गांधी, मानी उनकी ये मांग

Photo

त्त मंत्री अरुण जेटली के बजट भाषण के दौरान लोकसभा में सत्ता पक्ष के सदस्यों ने डेढ़ सौ से अधिक बार मेजे थपथपाई और कौशल विकास तथा शिक्षा क्षेत्र के लिए की गई घोषणाओं पर सबसे अधिक खुशी जताई लेकिन इस दौरान विपक्ष की तरफ से एक बार भी मेंजे नहीं थपथपाई गई।  वित्त मंत्री ने जैसे ही मजबूती के साथ अर्थव्यवस्था को आगे ले जाने की प्रतिबद्धता जताई प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित सत्ता पक्ष के लगभग सभी सदस्यों ने मेंजे थपथपाना शुरू कर दिया। इसके बाद लगभग हर घोषणा पर मेंजे थपथपाई गई। 

बजट भाषण के दौरान ब्रेल लिपि में छपाई के लिए कागज पर शुल्क कम करने की घोषणा करते हुए वित्त मंत्री ने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी का नाम लिया तो थोड़ी देर के लिए पूरे सदन का जैसे माहौल ही बदल गया था। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी की सलाह पर वह ब्रेल लिपि के लिए इस्तेमाल कागज पर शुल्क घटा रहे है। इस पर राहुल मुस्कराए और सिर हिलाते हुए नजर आए। विपक्षी खेमे में उस समय भी हल्की हलचल महसूस की गई जब वित्त मंत्री ने तम्बाकू पदार्थों में 10 से 15 प्रतिशत बढोतरी की घोषणा की। इस सदस्यों की प्रतिक्रिया स्पष्ट नहीं हो सकी।

इस दौरान सबसे ज्यादा आठ बार सदस्यों ने शिक्षा तथा कौशल विकास क्षेत्र के लिए की गयी घोषणाओं पर मेंजे थपथपायी। रेल तथा सड़क क्षेत्र संबंधी घोषणाओं, गरीबों के लिए रसाई गैस के विशेष सलेंडर की व्यवस्था तथा बिजली क्षेत्र की योजनाओं के लिए की गयी घोषणाओं पर भी सदस्यों ने खुशी जताई। प्रधानमंत्री भी कई बार मेंज थपथपाते नजर आए और आवास निर्माण तथा कृषि क्षेत्र की योजनाओं की घोषणा पर वह देर तक मेंज थपथपाते रहे। 

 

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने करीब एक घंटे 40 मिनट अपना बजट भाषण पढा। शुरुआत में उन्होंने खड़े होकर भाषण पढा लेकिन करीब 20 मिनट बाद वह सीट पर बैठ गए और काफी देर तक बैठकर ही पढते रहे लेकिन फिर खडे होकर ही उन्होंने भाषण पढा। इस दौरान वित्त मंत्री ने तीन बार पानी पिया। वित्त मंत्री के करीब 15 तक भाषण पढऩे के बाद लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने उन्हें कह दिया था वह चाहें तो बैठकर अपना भाषण पढ़ सकते हैं।  

वित्त मंत्री का लम्बा भाषण खत्म होने के तत्काल बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उनकी सीट पर गए और हाथ मिलाकर अच्छा बजट पेश के लिए उन्हें बधाई दी। प्रधानमंत्री के साथ ही चलकर उनकी सीट तक पहुंचे गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने भी उन्हें बधाई दी। इसी बीच उनकी बगल में बैठे भाजपा के आडवाणी ने भी उठकर उनसे हाथ मिलाया और उन्हें बधाई दी। इसी दौरान मंत्रिमंडल के कई अन्य सदस्य जेटली को बधाई देने के लिए उनकी सीट के पास पहुंच गए। 

वित्त मंत्री अरुण जेटली बजट भाषण शुरू करने से करीब 15 मिनट पहले अपनी सीट पर बैठ गए थे। उनके बगल में आडवाणी पहले से ही बैठे हुए थे और दोनों बातें भी कर रहे थे। इसी बीच सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी आए और उनकी बगल में बैठ गए। बाद में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज भी आडवाणी के बगल में बैठी। वित्त मंत्री की पीछे की सीट पर सात लोगों की जगह पर  जयंत सिन्हा, पीयूष गोयल, कलराज मिश्र, हर्षबर्धन,निर्मला सीतारमण सहित दस मंत्री बैठे हुए थे। 

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Twitter, Facebook पर हमें फॉलो करें और हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

Most Popular

(Last 14 days)

-Advertisement-

Facebook

To Top