होम अयोध्या में बनने वाली मस्जिद की भव्य तस्वीर आई सामने, 5 एकड़ में बनेंगी दो इमारतें

राज्यउत्तर प्रदेश

अयोध्या में बनने वाली मस्जिद की भव्य तस्वीर आई सामने, 5 एकड़ में बनेंगी दो इमारतें

अयोध्या में बनने वाली मस्जिद की भव्य तस्वीर आई सामने, 5 एकड़ में बनेंगी दो इमारतें

अयोध्या में बनने वाली मस्जिद की भव्य तस्वीर आई सामने, 5 एकड़ में बनेंगी दो इमारतें

Photo

लखनऊ। अयोध्या के धन्नीपुर में बनने वाली मस्जिद का डिजाइन लॉन्च कर दिया गया है। 5 एकड़ जमीन पर मस्जिद और अस्पताल की दो इमारतें बनेंगी। मस्जिद का डिजाइन एस. एम. अख्तर ने तैयार किया है। परिसर में अस्पताल के साथ लाइब्रेरी, म्यूजियम और कम्युनिटी किचन भी बनेगा। 

अयोध्या के धन्नीपुर में बनने वाली मस्जिद परंपरागत स्वरूप से अलग दो मीनारों के साथ अंडाकार होगी। इसे आधुनिक स्वरूप देने के लिए इसमें मेहराब नहीं बनाए जाएंगे। बाबरी मस्जिद के बराबर जमीन पर बनने वाली इस मस्जिद में एक साथ 2000 लोग नमाज अदा कर सकेंगे। इंडो इस्लामिक कल्चरल फाउंडेशन ट्रस्ट ने इसकी डिजाइन तैयार करवा ली है। हालांकि अभी तक इसका औपचारिक खुलासा नहीं किया है। 

सुप्रीम कोर्ट ने राज्य सरकार से 5 एकड़ जमीन देने को कहा था -

सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर राज्य सरकार ने मस्जिद बनाने के लिए धन्नीपुर गांव में 5 एकड़ जमीन दी है। फाउंडेशन ने इस जमीन पर मस्जिद, अस्पताल, इंडो इस्लामिक रिसर्च सेंटर और कम्यूनिटी किचन की डिजाइन तैयार करने की जिम्मेदारी बीते एक सितंबर को जामिया मिल्लिया इस्लामिया में आर्किटेक्चर विभाग के अध्यक्ष प्रो. एस.एम. अख्तर को दी थी।

आधुनिक तर्ज पर किया गया है मस्जिद की इमारत का डिजाइन-

सूत्रों से हवाले से प्राप्त जानकारी के अनुसार, लगभग 15,000 वर्गफीट में बनने वाली मस्जिद की इमारत का डिजाइन तैयार हो चुका है। इसमें मस्जिद को परंपरागत स्वरूप से हटकर मॉडर्न लुक देने के लिए काफी मसक्कत की गई है। इमारत का आकार अंडाकार है, जबकि छत गुंबदनुमा और पारदर्शी होगी। इसकी दो मीनारें आधुनिक शैली में डिजाइन की गई हैं। ये मीनारें बिल्कुल सीधी न होकर हल्की गोलाकार नजर आएंगी। इस मस्जिद में मेहराब नहीं होंगी जिससे आधुनिक मस्जिद का अनुभव हो सके। 

मस्जिद में प्रकाश की व्यवस्था सौर ऊर्जा से की जाएगी। जिसके लिए सोलर पैनल लगाए जाएंगे। पर्यावरण सरंक्षण को ध्यान में रखते हुए मस्जिद परिसर को हरा-भरा रखने के साथ ही यहां जल संरक्षण करने की भी योजना पर भी काम किया जा रहा है।

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Twitter, Facebook पर हमें फॉलो करें और हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

Most Popular

(Last 14 days)

-Advertisement-

Facebook

To Top