होम एक अजीब बीमारी जिसमें बच्ची का शरीर धीरे -धीरे बन रहा पत्थर, जाने क्या है ये बीमारी?

समाचारविदेशअजब-गजब

एक अजीब बीमारी जिसमें बच्ची का शरीर धीरे -धीरे बन रहा पत्थर, जाने क्या है ये बीमारी?

 एक अजीब बीमारी जिसमें बच्ची का शरीर धीरे -धीरे बन रहा पत्थर, जाने क्या है ये बीमारी?

एक अजीब बीमारी जिसमें बच्ची का शरीर धीरे -धीरे बन रहा पत्थर, जाने क्या है ये बीमारी?

Photo

एक अजीब बीमारी जिसमें बच्ची का शरीर धीरे -धीरे बन रहा पत्थर, जाने क्या है ये बीमारी?

एक पाँच महीने की मासूम बच्ची जिसके एक लाइलाज बीमारी है।उसे पता भी नहीं है कि उसे इतनी खतरकनाक बीमारी है कि कुछ समय में ही उसका पूरा शरीर पत्थर बन जायेगा।

ब्रिटेन:  ब्रिटेन में पाँच महीने की एक बच्ची है, जिसका नाम लेक्सी रॉबिंस(Lexi Robins)है लेक्सी रॉबिंस के एक दुर्लभ बीमारी (Fibrodysplasia Ossificans Progressiva) है, जिसमें उसका पूरा शरीर धीरे धीरे पत्थर बना जा रहा है। और इस बीमारी का इलाज मिलना भी मुश्किल है।

आपको बता दें कि 31 जनवरी को बच्ची का जन्म हुआ था। उनके माता-पिता एलेक्स और डेव बेहद खुश थे, जब तक उन्हें बच्ची की इस गंभीर और लाइलाज बीमारी के बारे में नहीं पता था। उसने दूसरे बच्चों की तरह ही एक्टिविटीज़ शुरू कीं और उनके पेरेंट्स को लगा कि उनका बच्चा काफी स्ट्रॉन्ग है। पहले बच्ची के पैर में एक गोखरू जैसी चीज़ दिखी। इसके बाद जब बच्ची को डॉक्टर के पास ले जाया गया तो उसे फाइब्रोडिस्प्लेशिया ऑसिफिशियंस प्रोग्रेसिवा (Fibrodysplasia Ossificans Progressiva) नाम की बीमारी होने का पता चला। 

क्यों शरीर बन रहा पत्थर ?

इस जेनेटिक डिसऑर्डर में शरीर के अंदर मांस और कोशिकाएं खत्म होने लगती हैं और इसका स्थान हड्डियां ले लेती हैं। पहली बार अप्रैल में एक्सरे के बाद पता चला कि लेक्सी के पांव में गोखरू (Bunious) बना हुआ है और उसके हाथ के अंगूठे में भी डबल ज्वाइंट है। डॉक्टरों ने ये भी बताया कि शायद बच्ची चल-फिर भी नहीं पाएगी। माता-पिता ने इंटरनेट पर बीमारी के बारे में काफी कुछ पढ़ा और बच्ची को स्पेशलिस्ट के पास लेकर गए। उसके तमाम जेनेटिक टेस्ट कराए गए और बच्ची को Fibrodysplasia Ossificans Progressiva की पुष्टि हो गई। 

डॉक्टर भी हैं हैरान।

लिक्सी को उनके पेरेंट्स ने ब्रिटेन के सबसे बेहतरीन डॉक्टर को दिखाया और उन्होंने बच्ची की बीमारी देखते ही कहा कि अपने 30 साल के करियर में उन्हें कभी ऐसा केस देखने को नहीं मिला। इस बीमारी के चलते शरीर के कंकाल के बाहर भी हड्डियों का विकास होने लगता है और ये धीरे-धीरे मांसपेशियों और कोशिकाओं को भी खत्म करके उनकी जगह लेने लगती है। कान की हड्डी बढ़ने से वो बहरी भी हो सकती है, जबकि हाथों-पैरों की गतिविधि भी रुक सकती है। डाक्टर ने बताया कि इस बीमारी का कोई इलाज नहीं है।

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Twitter, Facebook पर हमें फॉलो करें और हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

Most Popular

(Last 14 days)

-Advertisement-

Facebook

To Top