होम 12वीं में फेल होने पर MP में पांच स्टूडेंट ने खत्म कर ली लाइफ

मध्य प्रदेश

12वीं में फेल होने पर MP में पांच स्टूडेंट ने खत्म कर ली लाइफ

12वीं  में फेल होने पर MP में पांच स्टूडेंट ने खत्म कर ली लाइफ

12वीं में फेल होने पर MP में पांच स्टूडेंट ने खत्म कर ली लाइफ

Photo

 

भोपाल।12वीं बोर्ड का रिजल्ट खुशियों के साथ-साथ कई परिवारों में मातम पसरा गया। मध्य प्रदेश में अलग-अलग जगहों पर 5 स्टूडेंट ने फेल होने या सप्लिमेंट्री आने के बाद खुद की जिंदगी खत्म कर ली। इनमें से एक छात्रा भी है, जिसने खुद को आग के हवाले कर दिया।

पहली घटना...
भोपाल के राजीव नगर में रहने वाले रवि कुमार पुत्र बसंत कुमार (18) 12वीं में फेल हो गया था। गुरुवार को अपना रिजल्ट देखने के बाद से वो घर नहीं लौटा था। शुक्रवार सुबह वह पड़ोसी की झुग्गी में फांसी पर लटका मिला। उसके पिता हम्माल हैं।

दूसरी घटना...

सीहोर जिले की आष्टा तहसील के गांव खजूरिया जावर के रहने वाले 18 वर्षीय पवन पुत्र चंदर सिंह मालवीय ने 12वीं में सप्लिमेंट्री देखकर फांसी लगाकर अपनी जान दे दी। पवन पिछले साल फेल हो गया था। उसके परिवार के पास 4 एकड़ जमीन है। वह मजदूरी करके अपनी पढ़ाई कर रहा था। गुरुवार को उसने इंटरनेट पर अपना रिजल्ट देखा, तो सप्लिमेंट्री पाकर वह दु:खी हो गया। वह पहले घर आया और उसके बाद खेत पर चला गया। वहां उसने रस्सी से बंधे जानवरों को खोल दिया और फिर उसी रस्सी से आम के पेड़ पर लटककर जान दे दी। घटना की जानकारी गुरुवार रात करीब 11 पता चली।

तीसरी घटना...

टीकमगढ़ से करीब 7 किलोमीटर दूर स्थित गांव मिनौर की रहने वाली 17 वर्षीय ज्योति पुत्री राजाराम अहिरवार ने इस साल 12वीं का एग्जाम दिया था। गुरुवार को जब उसने अपना रिजल्ट देखा, तो वो दो विषयों बॉयोलॉजी और फिजिक्स में फेल हो गई थी। इससे आहत होकर उसने शुक्रवार सुबह करीब 5 बजे खुद पर मिट्टी का तेल छिड़कर आग लगा ली। उसे गंभीर हालत में जिला अस्पताल लाया गया, जहां से उसे झांसी(यूपी) रेफर किया गया है। वहां उसकी मौत हो गई।

चौथी घटना...
बैतूल जिले के हमलापुर में कक्षा 12वीं की प्राइवेट छात्रा ने गुरुवार को रिजल्ट घोषित होने के एक घंटे बाद शाम 5 बजे घर में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। सूचना पर पहुंचीं पुलिस ने छात्रा का शव फंदे से उतारकर जिला अस्पताल पहुंचाया। धार जिले मनवर तहसील के गांव उमरवन की रहने वाली पिंकी पिता गलसिंह बुंदेला (20) हमलापुर सुभाष वार्ड में मौसा मंगेश बुंदेला के पास रहती थी। उसने इस साल प्राइवेट छात्रा के तौर पर कक्षा 12 वीं की परीक्षा दी थी। गुरुवार को रिजल्ट घोषित होने के एक घंटे बाद उसने घर में ही फांसी लगाकर आत्म हत्या कर ली। छात्रा ने जिस समय घर में फांसी लगाई, उस समय घर में कोई नहीं था। परिवार के सदस्यों को घर पहुंचने पर पिंकी के फांसी का पता चला, तो पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने छात्रा को उतार कर जिला अस्पताल पहुंचाया। यहां डॉक्टर ने मृत घोषित कर दिया। शुक्रवार को छात्रा के माता-पिता के बैतूल आने पर पीएम हुआ।

पांचवीं घटना...

सतना जिले के ताला थानांतर्गत गांव देऊ के रहने वाले अनिल पटेल(18) की सप्लिमेंट्री आई थी। गुरुवार शाम 4 बजे अपना रिजल्ट देखने के बाद वो परेशान हो गया। वह अपने घर से करीब एक किलोमीटर दूर खेत पर पहुंचा और जहर खा लिया। वहां से करीब तीन घंटे बाद अनिल घर लौटा और अपनी भाभी को यह बात बताई। उसे फौरन रीवा जिला अस्पताल ले जाया गया, जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया। शुक्रवार सुबह उसका पोस्टमार्टम हुआ।

खरगोन में दो छात्राओं ने की खुदकुशी की कोशिश
खरगोन जिले में दो अलग-अलग स्थानों पर 12वीं की परीक्षा में पूरक आने पर दो छात्राओं ने आत्महत्या की कोशिश की। पुलिस के अनुसार करही पुलिस थाना अंतर्गत ग्राम सेजगांव की छात्रा सृष्टि ने 12वीं में एक विषय में पूरक आने पर शुक्रवार सुबह कीटनाशक दवाई पीकर आत्महत्या की कोशिश की। एक अन्य घटना में कल रात को बलवाडा थाना अंतर्गत ग्राम थरवर की छात्रा मनीषा अवासे ने भी 12वीं में दो विषयों में पूरक आने पर कीटनाशक दवाई पीकर आत्महत्या की कोशिश की थी। दोनों छात्राओं को उपचार के लिये बड़वाह के सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया। यहां पर प्राथमिक उपचार के बाद दोनों छात्राओं को इंदौर रैफर किया गया है। इंदौर में छात्राओं का उपचार जारी है।

Source - Dainik Bhaskar

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Twitter, Facebook पर हमें फॉलो करें और हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

Most Popular

(Last 14 days)

-Advertisement-

Facebook

To Top