होम पृथ्वी पर मचेगी तबाही! पृथ्वी की तरफ आ रहा है 16 लाख किमी की रफ्तार से सौर तूफान, जाने क्या है पूरी खबर?

समाचारविदेश

पृथ्वी पर मचेगी तबाही! पृथ्वी की तरफ आ रहा है 16 लाख किमी की रफ्तार से सौर तूफान, जाने क्या है पूरी खबर?

पृथ्वी पर मचेगी तबाही! पृथ्वी की तरफ आ रहा है 16 लाख किमी की रफ्तार से सौर तूफान, जाने क्या है पूरी खबर?

पृथ्वी पर मचेगी तबाही! पृथ्वी की तरफ आ रहा है 16 लाख किमी की रफ्तार से सौर तूफान, जाने क्या है पूरी खबर?

Photo

पृथ्वी पर मचेगी तबाही! पृथ्वी की तरफ आ रहा है 16 लाख किमी की रफ्तार से सौर तूफान, जाने क्या है पूरी खबर?

सूरज की सतह से पैदा हुआ शक्तिशाली सौर तूफान 16 लाख किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हमारी पृथ्वी की तरफ आ रहा है। वैज्ञानिकों के अनुसार, इस सौर तूफान के रविवार को या सोमवार को किसी भी समय हमारी धरती से टकराने की संभावना जताई जा रही है।

हमारी पृथ्वी पर एक बहुत ही बड़ा खतरा आने वाला है। क्योंकि सूरज की सतह से पैदा हुआ शक्तिशाली सौर तूफान (Solar Storm) 16 लाख किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हमारी पृथ्वी (Earth) की तरफ आ रहा है। वैज्ञानिकों के अनुसार, इस सौर तूफान के रविवार को या सोमवार को किसी भी समय हमारी धरती से टकराने की संभावना जताई जा रही है। इसलिए वैज्ञानिकों ने सैटेलाइट सिग्नलों और विमानों की उड़ानों को लेकर चेतावनी जारी कर दी है। सूरज की सतह से पैदा हुआ यह शक्तिशाली सौर तूफान 16 लाख 09 हजार 344 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से धरती की तरफ आ रहा है। 

स्पेसवेदर डॉट कॉम वेबसाइट ने दी जानकारी- 

स्पेसवेदर डॉट कॉम वेबसाइट ने इस सौर तूफान को लेकर जानकारी दी है वेबसाइट के अनुसार, सूरज के वायुमंडल से पैदा हुए सौर तूफान की वजह से धरती के चुंबकीय क्षेत्र के प्रभुत्व वाले अंतरिक्ष में काफी प्रभाव देखने को मिल सकता है। तूफान को लेकर वैज्ञानिकों ने चेतावनी जारी कर कहा है कि जब तक लोगों को जरूरी ना हो तो विमान यात्रा ना करें। 

वैज्ञानिकों के अनुसार, इस तूफान का असर विमानों की उड़ान, रेडियो सिग्नल, कम्यूनिकेशन और मौसम पर भी देखने को मिल सकता है। उत्तरी या दक्षिण अक्षांशों पर रहने वाले लोगों को इस तूफान की वजह से रात में सुंदर अरोरा दिख सकता है। ध्रुवों के पास आसमान में रात के समय तेज रोशनी को आरोरा कहा जाता है। 

NASA ने जारी की चेतावनी-

NASA ने चेतावनी जारी करके कहा है कि इस सौर तूफान की रफ्तार 16 लाख किमी प्रति घंटे से भी अधिक हो सकती है। अगर अंतरिक्ष से महातूफान आता है तो पृथ्वी के हर शहर में बिजली गुल हो सकती है। इसके अलावा पावर लाइंस में करंट भी तेज हो सकता है, इससे ट्रांसफार्मर्स उड़ भी सकते हैं।

आपको बता दें कि ये पहली बार नहीं है जब सौर तूफान धरती की ओर आ रहा है। साल 1989 में भी सौर तूफान के कारण कनाडा के क्‍यूबेक शहर में 12 घंटे के लिए बिजली चली गई थी। तब लाखों लोगों को मुश्किलों का सामना करना पड़ा था।

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Twitter, Facebook पर हमें फॉलो करें और हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

Most Popular

(Last 14 days)

-Advertisement-

Facebook

To Top