राष्ट्रीय

रियान मर्डर केस पर एक नजर : CBI बक्से में लेकर आई 1000 पन्‍नों की चार्जशीट

रियान मर्डर केस पर एक नजर : CBI बक्से में लेकर आई 1000 पन्‍नों की चार्जशीट

रियान मर्डर केस पर एक नजर : CBI बक्से में लेकर आई 1000 पन्‍नों की चार्जशीट

Photo

छात्र प्रिंस (कोर्ट के आदेश के मुताबिक अब उसका असली नाम नहीं लिया जाएगा, प्रिंस कहा जाएगा) की हत्या के मामले में सीबीआई ने चार्जशीट दाखिल कर दी है। 1,000 पेज की चार्जशीट में 16 वर्षीय आरोपी छात्र भोलू (कोर्ट द्वारा दिया गया नाम) को मुख्‍य आरोपी बनाया गया है। यह आरोप पत्र अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश जसबीर सिंह कुंडू की अदालत में दायर किया गया। उनकी अदालत नाबालिग आरोपी को कथित तौर पर बच्चे की हत्या के लिए व्यस्क के तौर पर देख रही है। सीबीआई ने अपनी चार्जशीट में कई बातों और सबूतों का जिक्र किया है। आपको विस्‍तार से बताते हैं कि चार्जशीट में क्‍या-क्‍या लिखा गया है।

CCTV फुटेज में क्‍या-क्‍या दिखा उसका पूरा जिक्र सीबीआई ने चार्जशीट में सीसीटीवी कैमरे की पूरे फुटेज का जिक्र किया है। उसमें बताया गया है कि सुबह 7 बजकर 35 मिनट 6 सेकेंड पर भोलू स्‍कूल परिसर में घुसता है। 7 बजकर 35 मिनट 53 सेकेंड पर वो वॉशरूम से निकलता है और  कॉन्‍फ्रेंस हॉल की तरफ जाता है। 7 बजकर 36 मिनट 03 सेकेंड पर भोलू वापस वॉशरूम आता है। 7 बजकर 37 मिनट 34 सेकेंड पर भोलू को प्रिंस के बहुत करीब चलते देखा गया। 7 बजकर 38 मिनट 03 सेकेंड पर प्रिंस वॉशरूम में गया और उसके पीछे-पीछे 7 बजकर 38 मिनट 23 सेकेंड यानी कि 20 सेकेंड के बाद भोलू भी वॉशरूम में घुसता देखा गया।

घबराकर भागता हुआ कैमरे में दिखा भोलू 7 बजकर 39 मिनट 38 सेकेंड पर भोलू को घबराए हुआ सीढि़यों की तरफ आते सीसीटीवी फुटेज में देखा गया। उसके बाद 7 बजकर 38 मिनट 58 सेकेंड पर स्‍कूल के माली को वॉशरूम में जाते और फिर 7 बजकर 39 मिनट 35 सेकेंड पर मॉली को वॉशरूम से निकलते देखा गया जिसने टीचरों को मर्डर के बारे में बताया। उसके बाद 7 बजकर 40 मिनट 17 सेकेंड पर माली को बस कंडक्‍टर अशोक के साथ जख्‍मी प्रिंस को उठा कर लाते देखा गया था। इस दौरान भोलू को ग्राउंड फ्लोर पर ही देखा गया।

कई सबूतों का भी जिक्र है चार्जशीट में सीबीआई ने अपनी चार्जशीट में में कई सबूतों का जिक्र किया है। आरोपी छात्र और मृतक छात्र के फिंगरप्रिंट के मिलान का भी जिक्र किया गया है। चार्जशीट में मोबाईल और ई मेल की भी जानकारी है। सीबीआई ने बारीकी से मामले की जांच की है। आरोपी छात्र के व्यवहार के बारे में चार्जशीट में लिखा गया है। CBI ने गुरुग्राम कोर्ट में आवेदन किया है कि आरोपी बस कंडक्टर अशोक को डिस्चार्ज किया जाए।

चार्जशीट में पिंटो का जिक्र नहीं आरोप पत्र में निजी स्कूल के प्रमोटरों और शीर्ष प्रबंधन अधिकारियों रेयान पिंटो, ऑगस्टीन पिंटो और ग्रेस पिंटो का जिक्र नहीं किया गया है। आपको बता दें कि पंजाब और हरियाणा उच्च न्यायालय ने गत वर्ष सात अक्तूबर को इन लोगों केा अग्रिम जमानत दी थी। स्कूलों के समूह के क्षेत्रीय प्रमुख फ्रांसिस थॉमस और एचआर प्रमुख जेयस थॉमस को स्कूल में बच्चों की सुरक्षा में कथित लापरवाही बरते जाने के लिए 11 सितम्बर को गिरफ्तार किया गया था। आरोप पत्र में एजेंसी ने हालांकि इन लोगों की गिरफ्तारी का जिक्र किया है।

मर्डर केस पर एक नजर 
बीते साल 8 सितंबर को गुरुग्राम के भोंडसी में स्थित रायन इंटरनेशनल स्कूल में कक्षा दो में पढ़ने वाले छात्र की स्कूल के टॉयलेट में गला रेतकर हत्या कर दी गई थी। पुलिस ने इस मामले में स्कूल के ही बस ड्राइवर को गिरफ्तार कर मामले के सुलझा लेने का दावा किया था लेकिन मीडिया में मामले के आने और पीड़ित परिवार के पुलिस की कहानी पर यकीन ना करने के बाद हरियाणा सरकार ने केस को सीबीआई को सौंपने की सिफिरिश की थी। ऐसे में सरकार ने जांच सीबीआई को सौंप दी और सीबीआई ने स्कूल के 11वीं कक्षा के छात्र को दूसरी कक्षा के छात्र की हत्या के आरोप में गिरफ्तार किया और अब जांच के बाद सीबीआई ने आरोपी छात्र के खिलाफ कोर्ट में चार्जशीट दाखिल की है।
 

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Twitter, Facebook पर हमें फॉलो करें और हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

Most Popular

-Advertisement-

Facebook

To Top