उत्तर प्रदेश

अखिलेश यादव ने मोदी सरकार पर लगाया व्यापारियों के उत्पीडऩ का आरोप, कही ये बातें

अखिलेश यादव ने मोदी सरकार पर लगाया व्यापारियों के उत्पीडऩ का आरोप, कही ये बातें

अखिलेश यादव ने मोदी सरकार पर लगाया व्यापारियों के उत्पीडऩ का आरोप, कही ये बातें

Photo

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने मंगलवार को मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा।  उन्होंने केन्द्र की नरेन्द्र मोदी सरकार पर व्यापारियों का उत्पीडऩ किए जाने का आरोप लगाया। 

और आगे इन्होने कहा कि सरकार की नीतियों से तंग आकर 40 हजार व्यापारी देश छोडक़र विदेश चले गए हैं। अखिलेश यादव ने पश्चिमी उत्तर प्रदेश के व्यापारियों के एक दल से बातचीत में कहा कि भाजपा की सरकार में नोटबंदी और जीएसटी के साथ छापेमारी, नोटिस देने जैसी तमाम यातनाएं व्यापारियों को मिल रही है।

व्यापारियों को जेल भी भेजा जा रहा है। सत्ता में बने रहने के लिए भाजपा कुछ भी कर सकती हैं इसलिए इससे सावधान रहना होगा। वह कोई भी झगड़ा लगा सकती है। अखिलेश यादव ने कहा कि व्यापार और व्यापारी पर संकट की स्थिति में सरकार को मदद करनी चाहिए लेकिन भाजपा को इसकी चिंता नहीं है। 40 हजार व्यापारी भारत को छोडक़र विदेश चले गए हैं। व्यापारियों में लूट, अपहरण और हत्या के कारण भारी असुरक्षा है। उनकी समस्याएं सुनी नहीं जा रही है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सिर्फ अपने मन की बातें करते हैं।

पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि अपराध नियंत्रण के लिए बनी यूपी डायल 100 व्यवस्था को शिथिल कर दिया क्योंकि उसे समाजवादी सरकार ने शुरू किया था। अखिलेश यादव ने कहा कि संसद में भाजपा के 73 सांसद है और उत्तर प्रदेश विधानसभा में उसका 324 विधायकों का बहुमत है। केन्द्र सरकार पांच और राज्य सरकार दो बजट ला चुकी है लेकिन इससे विकास का कोई काम नहीं हुआ है। जीएसटी की जटिलता को सरल करने की दिशा में कोई कदम नहीं उठाया गया है, भ्रष्टाचार में वृद्धि हुई है। भाजपा की कुनीतियों ने भारत की अर्थव्यवस्था को पीछे कर दिया है। पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि स्वदेशी आंदोलन को जीएसटी से धक्का लगा हैं।

हम इसे घोषणा पत्र में शामिल करेंगे। व्यापारियों के लिए सुरक्षा सेल बननी चाहिए। समाजवादी सरकार में मंडियों की व्यवस्था की गई थी जिससे व्यापारी और किसान दोनों को सुविधा होती। व्यापार की प्रगति में सडक़ और बिजली की जरूरत को देखते हुए समाजवादी सरकार ने कई कदम उठाए थे। उन्होंने कहा व्यापार के लिए नीति, नीयत और सुरक्षा के साथ सुविधा होना है। भाजपा राज में यह सब होना उनके तमाम दावों की तरह असम्भव है। इसलिए आक्रोशित व्यापारी 2019 में होने वाले चुनावों के इंतजार में है।

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Twitter, Facebook पर हमें फॉलो करें और हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

Most Popular

-Advertisement-

Facebook

To Top