राज्यउत्तर प्रदेश

उज्ज्वला योजना के 2 लाख 23 हज़ार 904 लाभार्थियों के खातों में भेजी जा चुकी है गैस सिलेण्डर मूल्य की धनराशि

उज्ज्वला योजना के 2 लाख 23 हज़ार 904 लाभार्थियों के खातों में भेजी जा चुकी है गैस सिलेण्डर मूल्य की धनराशि

उज्ज्वला योजना के 2 लाख 23 हज़ार 904 लाभार्थियों के खातों में भेजी जा चुकी है गैस सिलेण्डर मूल्य की धनराशि

Photo

उज्ज्वला योजना के 2 लाख 23 हज़ार 904 लाभार्थियों के खातों में भेजी जा चुकी है गैस सिलेण्डर मूल्य की धनराशि। कोविड-19 को विश्व स्वास्थ्य संगठन तथा संयुक्त राष्ट्र द्वारा महामारी घोषित किये जाने के सन्दर्भ में उत्पन्न विषम परिस्थितियों में पीड़ित व्यक्तियों की सहायता करने एवं राहत प्रदान करने के उद्देश्य से जनपद बहराइच में खाद्यान्न/भोजन पैकेट का वितरण, श्रम विभाग में पंजीकृत श्रमिकों/अपंजीकृत श्रमिकों को रू. 1000=00 का भुगतान करने, फल, सब्ज़ी, दूध, पानी, रसोई गैस के साथ-साथ खाद्यान्न सामग्री इत्यादि की डोर-डोर आपूर्ति तथा उज्ज्वला योजना के लाभार्थियों को माह अप्रैल, मई व जून में निःशुल्क गैस सिलेण्डर की आपूर्ति के लिए चाक-चैबन्द व्यवस्था की गयी है।

शासन के निर्देश पर सार्वजनिक वितरण प्रणाली अन्तर्गत जनपद बहराइच के कुल 6,87,114 कार्ड धारकों के सापेक्ष अब तक कुल 5,74,174 कार्ड धारकों को खाद्यान्न वितरित किया गया है जिसमें से 3,01,919 निःशुल्क श्रेणी के लाभार्थी हैं। खाद्यान्न वितरण केन्द्र कलेक्ट्रेट के माध्यम से प्रतिदिन 200 परिवारों को 05-05 किलो आटा व चावल, 01-01 किलो नमक व दाल, 01 पैकेट मसाला, 1/2 लीटर सरसों का तेल तथा 01 पैकेट साबुन का वितरण किया जा रहा है। जनपद के 08 आश्रय स्थलों में 235 व्यक्ति आवासित हैं, जिनके समुचित खानपान/सफाई की व्यवस्था केन्द्र प्रभारियों द्वारा की जा रही है। इसके अतिरिक्त जनपद में सरकारी/स्वैच्छिक संस्थाओं के कुल 18 सामुदायिक किचन संचालित हैं जिनके द्वारा प्रतिदिन लगभग 5000 लंच पैकेट वितरित किये जा रहे हैं। कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिए जनपद की 02 नगर पालिकाओं व 02 नगर पंचायतों तथा ग्राम पंचायतों में फागिंग/ब्लीचिंग घोल के नियमित छिड़काव/सेनेटाइज़ेशन की कार्यवाही की जा रही है।

यह भी पढ़ें - सी.एम.एस. द्वारा कोरोना राहत कार्य हेतु अब तक 90 लाख रूपयों का योगदान

श्रम विभाग के कुल 10331 पंजीकृत श्रमिकों को प्रति श्रमिक रू. 1000=00 की दर से रू. 01 करोड़ 03 लाख 31 हज़ार की धनराशि तथा 3356 अपंजीकृत श्रमिकों को आपदा राहत निधि से प्रति श्रमिक रू. 1000=00 की दर से रू. 33 लाख 56 हज़ार की धनराशि उनके खातों में अन्तरित की जा चुकी है।

वृद्धापेंशन योजना के कुल 77718 लाभार्थियों, विधवा पेंशन योजना के 59310 लाभार्थियों तथा दिव्यांगजन पेंशन योजना के 19649 लाभार्थियों को रू. 1000=00 प्रति लाभार्थी की दर से धनराशि उनके खातों में भेजी गयी है। प्रधानमंत्री जनधन योजना महिला खाता योजना में कुल 80373 खाताधारकों को रू. 500=00 प्रति खाताधारक की दर से धनराशि उनके खातों में भेजी गयी है।

लाकडाउन की अवधि में जनसामान्य को फल, सब्ज़ी, दूध, पानी, रसोई गैस तथा खाद्यान्न सामग्री की डोर-टू-डोर आपूर्ति के भी व्यापक बन्दोबस्त किये गये हैं। जिले में 101 वाहनों व 328 ठेलों के माध्यम से डोर-टू-डोर फल व सब्ज़ी की आपूर्ति की जा रही है तथा 35 वाहनों व दूधियों द्वारा 15485 लीटर डोर-टू-डोर दूध की आपूर्ति करायी जा रही है।

266 फुटकर किराना स्टोर्स द्वारा उपभोक्ताओं की माॅग पर घर-घर सामग्री की आपूर्ति की जा रही है। जबकि 12 थोक विक्रेता भी चिन्हित किये गये हैं जो फुटकर विक्रेताओं को सामान की आपूर्ति कर रहे हैं। पानी आपूर्ति की समुचित व्यवस्था के तहत 50 पानी आपूर्तिकर्ता संस्थाओं द्वारा जार/पाउच के माध्यम से स्वच्छ पेयजल की आपूर्ति की जा रही है।

जिले की 57 गैस एजेन्सियों द्वारा बुकिंग के आधार पर उपभोक्ताओं को होम डिलिवरी के माध्यम से गैस सिलेण्डर की आपूर्ति की जा रही है। जबकि उज्ज्वला योजना के लाभार्थियों को माह अप्रैल, मई व जून में सुव्यवस्थित व समय से निःशुल्क गैस सिलेण्डर आपूर्ति की कार्यवाही का कार्य प्रगति पर है। अब तक 2,23,904 लाभार्थियों के खाते में सिलेण्डर मूल्य की धनराशि भेजी जा चुकी है।

जिलाधिकारी ने राशन की दुकानों, मेडिकल स्टोर्स तथा बैंकों, ए.टी.एम. पर कोरोना वायरस (कोविड-19) के संक्रमण से बचाव हेतु सोशल डिस्टेन्सिंग का पालन करने की अपील की है।

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Twitter, Facebook पर हमें फॉलो करें और हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

Most Popular

-Advertisement-

Facebook

To Top