राज्यउत्तर प्रदेशमनोरंजनबॉलीवुड

सुशांत सिंह मौत मामले में बिहार पुलिस और मुंबई पुलिस के बीच नहीं बन रहा तालमेल, मामले की जांच CBI से कराने की बात जोरों पर

सुशांत सिंह मौत मामले में बिहार पुलिस और मुंबई पुलिस के बीच नहीं बन रहा तालमेल, मामले की जांच CBI से कराने की बात जोरों पर

सुशांत सिंह मौत मामले में बिहार पुलिस और मुंबई पुलिस के बीच नहीं बन रहा तालमेल, मामले की जांच CBI से कराने की बात जोरों पर

Photo

सुशांत सिंह मौत मामले में बिहार पुलिस और मुंबई पुलिस के बीच नहीं बन रहा तालमेल, सुशांत सिंह के फैंस लगातार मामले की जांच CBI से कराने की बात जोरों पर उठा रहें हैं।

सुशांत सिंह मौत के मामले में केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान ने CBI जांच की मांग की है, उन्होंने कहा कि सुशांत सिंह केस को लेकर 2 राज्यों बिहार और महाराष्ट्र के बीच टकराव चल रहा है। वहीं बिहार के डिप्टी CM ने मुंबई पुलिस पर आरोप लगाते हुए कहा कि मुंबई-पुलिस-बिहार पुलिस की जांच में रोड़े लगा रही है, उन्होंने कहा है कि भाजपा को ऐसा लगता है कि मामले की जांच CBI को करनी चाहिए।

जदयू नेता और बिहार सरकार में मंत्री महेश्वर हजारी ने भी सुशांत की गर्लफ्रेंड रिया चक्रवर्ती को विषकन्या कहा है। हजारी ने कहा कि रिया को सुशांत की हत्या की सुपारी मिली थी, उसने एक सुपारी किलर की तरह काम किया और सुशांत को प्यार के जाल में फंसा कर घटना को अंजाम दिया। हजारी ने कहा कि मुंबई फिल्म इंडस्ट्री में देश भर से लड़के लड़कियां जाते हैं वहां का गैंग ऐसे युवाओं के खिलाफ साजिश करत है। रिया को एक साजिश के तहत सुशांत के पास भेजा गया था। रिया ने सुशांत को प्यार के जाल में फंसा कर जो किया वह दुर्भाग्यपूर्ण है अगर सब कुछ ऐसे ही चलता रहा तो कोई किसी का विश्वास कैसे करेगा। अभी पुलिस मामले में जांच कर रही है लेकिन मैं जो कह रहा हूं वही सच सामने आएगा। कई टैलेंटेड युवाओं के साथ ऐसा हुआ है बिहार सरकार सुशांत के परिजनों और उनके करोड़ों फैंस को न्याय दिलाना चाहती है इसके लिए हम सीबीआई जांच के पक्ष में है।  

वहीं सीबीआई जांच की मांग को लेकर पटना हाई कोर्ट में याचिका भी दायर की गई है। वकील पवन प्रकाश पाठक और गौरव कुमार ने पटना हाई कोर्ट में पिटीशन भेजी है, इसमें कहा गया है कि मुंबई पुलिस और पटना पुलिस की जांच में तालमेल नहीं बन रहा है इसलिए CBI जैसी किसी केंद्रीय एजेंसी से जांच कराई जानी चाहिए। बता दें इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में सीबीआई जांच की मांग वाली जनहित याचिका पर सुनवाई करने से इंकार कर दिया था।

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Twitter, Facebook पर हमें फॉलो करें और हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

Most Popular

-Advertisement-

Facebook

To Top