उत्तर प्रदेश

अवैध खनन मामले में IAS चंद्रकला के आवास पर CBI ने मारा छापा

अवैध खनन मामले में IAS चंद्रकला के आवास पर CBI ने मारा छापा

अवैध खनन मामले में IAS चंद्रकला के आवास पर CBI ने मारा छापा

Photo

लखनऊ। CBI की टीम ने अवैध रेत खनन मामले में UP कैडर की चर्चित IAS अफसर के आवास पर छापेमारी की है। CBI की टीम ने आईएएस बी चंद्रकला के लखनऊ स्थित आवास पर छापेमारी की है। हमीरपुर के अवैध खनन मामले में CBI बी चंद्रकला का घर खंगाल रही है। लखनऊ के योजना भवन के पास सफायर होम एंड विला के आवास संख्या 101 पर CBI की टीम पहुंची है। बताया जा रहा है कि महिला आईएएस अफसर अपने आवास पर नहीं थी। CBI की इस कार्रवाई से हड़कंप मचा हुआ है। आईएएस बी चंद्रकला सोशल मीडिया पर काफी लोकप्रिय रही हैं।

अवैध बालू खनन मामले में CBI का छापा -

उत्तर प्रदेश के अवैध बालू खनन मामले में CBI की टीम ने दिल्ली, लखनऊ, कानपुर, हमीरपुर और जालौन में कई ठिकानों पर छापेमारी की है। महिला आईएएस पर आरोप लगा था कि उन्होंने जुलाई 2012 के बाद हमीरपुर में 50 मौरंग खनन के पट्टे कर दिए थे। हालांकि, उस वक्त ई-टेंडर के जरिए मौरंग के पट्टों को स्वीकृत करने का प्रावधान था। चन्द्रकला पर आरोप है कि नियमों की अनदेखी करते हुए उन्होंने पट्टे दिए थे।

IAS बी.चन्द्रकला के आवास पर छापा -

अखिलेश सरकार के कार्यकाल में हाईकोर्ट ने मौरंग खनन की जांच के आदेश दिये थे। इसी सरकार में आईएएस बी.चन्द्रकला की पोस्टिंग हमीरपुर जिले में जिलाधिकारी के पद पर की गई थी। यूपी की चर्चित आईएएस चंद्रकला सोशल मीडिया पर काफी सक्रिय रहीं है। उनकी अच्छी-खासी फैन-फॉलोविंग है।

 

Lucknow: Central Bureau of Investigation (CBI) raids IAS officer B Chandrakala's residence in connection with the illegal sand mining case of Uttar Pradesh. pic.twitter.com/Co6NR84kjT

— ANI UP (@ANINewsUP) January 5, 2019

 

हमीरपुर में 60 मौरंग खनन के पट्टे का मामला -

साल 2015 में अवैध रूप से जारी मौरंग खनन को लेकर हाईकोर्ट में याचिका दायर की गई थी, जिसके बाद हाईकोर्ट ने 16 अक्टूबर 2015 को हमीरपुर में जारी किए गए सभी 60 मौरंग खनन के पट्टे अवैध घोषित करते हुए रद्द कर दिए थे।

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Twitter, Facebook पर हमें फॉलो करें और हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

Most Popular

-Advertisement-

Facebook

To Top