राष्ट्रीय

प्लीज मुंह न तोड़ना, बस जवाब देना : वेंकैया नायडू

प्लीज मुंह न तोड़ना, बस जवाब देना : वेंकैया नायडू

प्लीज मुंह न तोड़ना, बस जवाब देना : वेंकैया नायडू

Photo

शुक्रवार को राज्यसभा में भाजपा सांसद श्वेत मलिक के समर्थन में एक सांसद ने विरोधियों को मुंहतोड़ जबाव देने की बात कही जिसपर वेंकैया नायडू ने तुरंत टोकते हुए कहा, यह कोई तरीका नहीं है। आप सही से जवाब दीजिए मुंह तोड़ने की जरूरत नहीं है। कृपया इस तरह की शब्दावली का न प्रयोग करें |आपको बता दें कि अभी तक यह परंपरा रही है कि सदन की कार्यवाही जब शुरू होती है तो सभी मंत्री पटल पर पेपर रखते हुए बेग शब्द का इस्तेमाल करते हैं। शुक्रवार को भी जब मंत्रियों ने पेपर सदन के पटल पर रखना शुरू किया तो नायडू ने उन्हें टोकते हुए कहा कि आप लोग बेग शब्द का इस्तेमाल न करें।

बेग शब्द अंग्रेजी का अर्थ है जिसका अर्थ भीख भी होता है। शुक्रवार को जब कानून राज्य मंत्री पीपी चौधरी ने पटल पर पेपर रखा तो उन्होंने बेग शब्द का इस्तेमाल किया जिसपर नायडू ने कहा कि आप लोग कृपया राजशाही वाले दौर से बाहर निकलिए और बिना बेग शब्द का सीधे इस्तेमाल किए कहिए कि मैं पेपर सदन के पटल पर रख रहा हूं।

इसके साथ ही वेंकैया नायडू ने उपभोक्ता मामलों में चर्चा के दौरान सदन में अपने साथ हुए एक धोखाधड़ी का किस्सा भी सुनाया। नायडू ने बताया कि वो उपराष्ट्रपति बनने के बाद अपना वजन कुछ कम करना चाह रहे थे। नायडू ने बताया कि उन्होंने एक विज्ञापन देखा था जिसमें 28 दिनों में वजन कम करने का दावा किया गया था। लेकिन जब मैंने 1230 रुपये देकर दवा मंगाई तो मुझे एक पैकेट मिला जिसमें लिखा था कि असली दवा के लिए 1 हजार रुपये और दो। वेंकैया नायडू ने बताया कि उन्होंने उभोक्ता मामलों में इसकी शिकायत भी की लेकिन पता चला कि यह अमेरिका की कंपनी है और इसमें कुछ नहीं हो सकता है।

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Twitter, Facebook पर हमें फॉलो करें और हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

Most Popular

-Advertisement-

Facebook

To Top