समाचारराष्ट्रीय

अयोध्या में समतलीकरण के दौरान मिल रही पुरातत्विक धरोहरों को संरक्षित करने हेतु सम्राट अशोक क्लब शाखा उन्नाव ने राष्ट्रपति को भेजा ज्ञापन

अयोध्या में समतलीकरण के दौरान मिल रही पुरातत्विक धरोहरों को संरक्षित करने हेतु सम्राट अशोक क्लब शाखा उन्नाव ने राष्ट्रपति को भेजा ज्ञापन

अयोध्या में समतलीकरण के दौरान मिल रही पुरातत्विक धरोहरों को संरक्षित करने हेतु सम्राट अशोक क्लब शाखा उन्नाव ने राष्ट्रपति को भेजा ज्ञापन

Photo

अयोध्या में समतलीकरण के दौरान मिल रही पुरातत्विक धरोहरों को संरक्षित करने हेतु सम्राट अशोक क्लब शाखा उन्नाव ने राष्ट्रपति को भेजा ज्ञापन, नगरी साकेत (अयोध्या) में चल रहे समतलीकरण के दौरान मिल रही पुरातत्विक धरोहरों को संरक्षण में लेने के लिए की अपील।

आज दिनांक 03.06.2020 को सम्राट अशोक क्लब भारत, शाखा उन्नाव के पदाधिकारियों ने जिलाधिकारी उन्नाव के द्वारा माननीय रामनाथ कोविंद जी महामहिम राष्ट्रपति महोदय तथा भारत सरकार को ज्ञापन भेजा, जिसमें पदाधिकारियों ने प्राचीन नगरी साकेत (अयोध्या) में चल रहे समतलीकरण के दौरान निकल रहे पुरातत्विक धरोहरों एवं स्थल को सुरक्षित एवं संरक्षित कर संरक्षण में लेने की बात रखी है क्योंकि पुरातात्विक धरोहरों एवं उन स्थलों के बनावट में छेड़छाड़, तोड़फोड़, किसी प्रकार का बदलाव या विकृत करना पुरातात्विक स्थल व अवशेष अधिनियम 1958 तथा बहुमूल्य कलाकृति अधिनियम 1972 के अनुसार दंडनीय अपराध है। इसके बावजूद भी सरकार द्वारा वहां मिल रही ऐतिहासिक धरोहरों को नष्ट करते हुए समतलीकरण का कार्य किया जा रहा है। भारत सरकार तथा भारतीय पुरातत्व विभाग को तत्काल संज्ञान में लेना चाहिए परंतु ऐसा ना होने एवं सरकार द्वारा मनमानी ढंग से धरोहरों को नष्ट करने एवं मनमाने तरीके से परिभाषित किए जाने के कारण जनता में आक्रोश व्याप्त है तथा आंदोलन होने की संभावना है।

ज्ञापन देने के समय मुख्य रूप से उत्तर प्रदेश सोशल मीडिया कोआर्डिनेटर वीरेंद्र मौर्य, जिलाध्यक्ष हरीश प्रियदर्शी, महासचिव एडवोकेट दीपक कुशवाहा व शाक्य वैभव मौर्य इत्यादि लोग उपस्थित रहे।

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Twitter, Facebook पर हमें फॉलो करें और हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

Most Popular

-Advertisement-

Facebook

To Top