उत्तर प्रदेश

#लखनऊ. सत्ता सेवा का माध्यम है, मेवा का नहीं : शत्रुघ्न सिन्हा

#लखनऊ. सत्ता सेवा का माध्यम है, मेवा का नहीं : शत्रुघ्न सिन्हा

#लखनऊ. सत्ता सेवा का माध्यम है, मेवा का नहीं : शत्रुघ्न सिन्हा

Photo

समाजवादी पार्टी द्वारा आयोजित जयप्रकाश नारायण की जयंती कार्यक्रम में गुरुवार को लखनऊ पहुंचे भारतीय जनता पार्टी सांसद शत्रुघ्न सिन्हा और पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा ने केंद्र की मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा। 'शत्रुघ्न सिन्हा' ने राफेल डील पर कहा है कि- केंद्र सरकार को जवाब देना होगा |"

तो वहीं, यशवंत सिन्हा ने कहा कि- मौजूदा वक्त में देश के हालात इमरजेंसी से भी बदतर हैं। समाजवादी पार्टी मुख्यालय में आयोजित कार्यक्रम में शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि, -सत्ता सेवा का माध्यम है, मेवा का नहीं, अगर सच बोलना बगावत है तो मैं बागी हूं।

सिन्हा ने कहा है कि- "जुमलेबाजी और खोखला वायदा नहीं चलेगा। नोटबंदी का फैसला पार्टी का नहीं था, क्या इस बारे में पार्टी के वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी से पूछा गया था? क्या इस बारे में एमएम जोशी, अरूण शोरी, और यशवंत सिन्हा को कुछ भी मालूम था ? अचानक नोटबंदी लागू कर दी गई और गरीबों के बारे में कुछ नहीं सोचा गया, नोटबंदी के बाद GST लागू कर व्यापारियों की कमर तोड़ दी गई। GST, पूजा के सामान, प्रसाद और लंगर पर भी लागू कर दी गई लेकिन पेट्रोल डीजल को इससे दूर रखा गया। सांसद सिन्हा ने कहा कि देश राफेल डील के बारे में जवाब चाहता है। जनता राफेल डील के बारे में जानना चाहती है। "

आगे उन्होंने कहा कि  -आखिर एक वर्ष पुरानी कंपनी एचएल को क्यों हटाया गया और एक ऐसी कंपनी को यह सौदा क्यों दिया गया जो कि इसके बारे में जानती भी नहीं है। उन्होंने कहा कि कुछ दिन पहले यशवंत सिन्हा से पूछा गया था कि अटल बिहारी वाजपेयी सरकार और वर्तमान की नरेंद्र मोदी सरकार के बीच तुलना करने को कहा गया था? तो उन्होंने कहा था कि- "अटल सरकार में 'लोकतंत्र' था और आज "तानाशाही" है।

आज मैं कहता हूं कि- वन मैन शो है और दो आदमियों की सेना है। इस समय तो न ईमानदारी है और न ही पारदर्शिता। शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि जय प्रकाश नारायण को अपने श्रद्धा सुमन अर्पित करने लखनऊ आया हूं और उन्हीं से प्रभावित होकर राजनीति शुरू की है। अखिलेश यादव देश की राजनीति का उभरता हुआ सितारा है और आज उत्तर प्रदेश के सबसे मजबूत और मशहूर नेता हैं।

शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि- "अखिलेश यादव के साथ मिलकर भविष्य की राजनीति पर चर्चा भी करेंगे। उन्होंने कहा कि जयप्रकाश नारायण को मानने वालों में हम सब हैं, मैं हर दल का प्रिय हूं। सभी लोग मुझे मानते हैं। अखिलेश मुझे मौका दें या मैं अखिलेश को मौका दूं बात एक ही है। हम सब एक परिवार की तरह है। सपा प्रमुख अखिलेश यादव के साथ मंच पर मौजूद यशवंत सिन्हा ने कहा कि- देश में मौजूदा हालात इमरजेंसी से भी बदतर हैं, सभी को एकजुट होकर लडऩा पड़ेगा।

उन्होंने कहा कि - "शत्रुघ्न और मैं देश भर में घूम कर लोगों को जागरूक कर रहे हैं, देश में लोकतंत्र खतरे में है अगर हम जागे नहीं तो देश का बहुत नुकसान होगा। देश में लोकतांत्रिक संस्थाएं खतरे में हैं, अगर हम एकजुट होकर लड़ें तो जीत हमारी होगी।

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Twitter, Facebook पर हमें फॉलो करें और हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

Most Popular

-Advertisement-

Facebook

To Top