उत्तर प्रदेश

विवेक तिवारी मर्डर केस, जानिये अब तक क्या-क्या हुआ

विवेक तिवारी मर्डर केस, जानिये अब तक क्या-क्या हुआ

विवेक तिवारी मर्डर केस, जानिये अब तक क्या-क्या हुआ

Photo

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में बीती रात एप्पल के एरिया सेल्स मैनेजर विवेक तिवारी की पुलिस की गोली लगने से मौत हो गई। आरोप है कि UP पुलिस के एक कांस्टेबल प्रशांत चौधरी ने बीती रात विवेक तिवारी को संदिग्ध मानकर सीधे उनके सिर में गोली मार दी। राजधानी के पॉश इलाके गोमतीनगर में हुई इस घटना से UP पुलिस की कार्यशैली पर गंभीर सवाल खड़े कर दिए हैं। फिलहाल आरोपी सिपाही के खिलाफ हत्या की धारा 302 में मुकदमा दर्ज कर उन्हें जेल भेज दिया गया है।

पत्नी ने लगाए पुलिस पर गंभीर आरोप - 

इस पूरे घटनाक्रम पर पुलिस की कार्रवाई पर सवाल उठाते हुए विवेक तिवारी की पत्नी ने कहा, मैं पुलिस की ही बात मानती हूं कि वो एक महिला के साथ थे, वो गाड़ी नहीं रोक रहे थे। तो आप गाड़ी का नम्बर नोट करते, RTO ऑफिस से गाड़ी का डिटेल्स देते और मेरे पति को घर से गिरफ्तार कर लेते। मेरे पति को गोली क्यों मारी गई।' विवेक की पत्नी ने सरकार से मुआवजे के रूप में एक करोड़ रुपए और पुलिस विभाग में नौकरी की मांग की है।

vivek tiwari wife

विवेक तिवारी के चाचा ने इसे एनकाउंटर करार दिया -

इस घटना के मामले में अब चाचा तिलकराज तिवारी का बयान दिया है। बयान में तिलकराज तिवारी ने पुलिसकर्मियों पर हत्या करने कहा आरोप लगाया। उन्होंने कहा है कि अगर कार से टक्कर मारी गई थी तो गोली गाड़ी के टायर या शरीर के निचले हिस्से पर मारनी चाहिए थी। गले में गोली मारने का मतलब एनकाउंटर ही होता है।

जब तक CM योगी नहीं आएंगे तब तक अंतिम संस्कार नहीं करेंगे -

मृतक विवेक तिवारी के परिजनों ने एक जिद पकड़ ली है। परिवार वालों का कहना है कि जब तक मुख्यमंत्री नहीं आएंगे वह अंतिम संस्कार नहीं करेंगे। परिजनों को मनाने के लिए लखनऊ के डी DM और सरकार के कैबिनेट मंत्री विवेक के घर पहुंचे, पर परिजनों को मानने में विफल रहे। इधर विवि के छात्र परिवार के समर्थन में आ गए हैं। उन्होंने चेतावनी दी है कि यदि पुलिस इस मामले में परिवार की मांग नहीं मानती है तो वह डिप्टी CM का घर फूंक देंगे। बता दें कि प्रदर्शन कर रहे छात्रों को पुलिसकर्मियों ने वहां से खदेड़ दिया था।

गोली चलाने वाले सिपाही पर पुलिस ने किया मुकदमा दर्ज -

युवक की मौत के बाद आरोपी सिपाही पर गोमती नगर थाने में हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया है। साथ ही कहा गया है कि सिपाही के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। विवेक की पत्नी ने कहा कि उसके बच्चे जब अपने पापा के बारे में पूछेगे तो वह क्या बताएगी, की UP की गुंडा पुलिस ने गोली मार दी थी।


पुलिस पर उठे सवाल, गिरफ्तार पुलिसवाले ने कैसे की प्रेस कॉन्फ्रेंस -

इसके बाद शाम होते-होते आरोपी मीडिया के सामने आकर प्रेंस कॉन्फ्रेंस करता दिखा। यूपी पुलिस के उस बयान पर सवाल खड़े हो गए जिसनें उन्होंने कहा था कि उन्होंने अपराधी को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया गया है। कैसे एक गिरफ्तार आरोपी मीडिया के सामने आकर बयान दे रहा है।

vivek tiwari murder case lucknow

इस पूरे घटनाक्रम में गोमती नगर पुलिस उसका सहयोग करती दिखी। थाने में आरोपी सिपाही और उसकी पत्नी ने मीडिया के सामने आकर बात की और राज्य सरकार पर उनकी FIR ना लिखे जाने का आरोप लगाया।

राजनाथ सिंह ने CM योगी आदित्यनाथ से की बात -

गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने उत्तर प्रदेश के CM योगी आदित्यनाथ से बात कर पुलिस की गोली का शिकार हुए विवेक तिवारी केस के बारे में जानकारी ली है। राजनाथ सिंह ने मामले को लेकर आदित्यनाथ और उत्तर प्रदेश डीजीपी से बात की है। योगी आदित्यनाथ ने राजनाथ सिंह को भरोसा दिलाया है कि मामले में तेजी से जांच की जा रही है।

विवेक की पत्नी ने कहा चाहिए पुलिस विभाग में नौकरी और 1 करोड़ का मुआवजा -

विवेक तिवारी की पत्नी ने UP पुलिस के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। विवेक तिवारी की पत्नी ने कहा कि उन्हें यूपी पुलिस की जांच में भरोसा नहीं है। CM योगी को लिखे पत्र में विवेक की बीवी कल्पना तिवारी ने कहा कि इस मामले की जांच CBI से होनी चाहिए। साथ ही उन्होंने पुलिस विभाग में नौकरी और 1 करोड़ रुपये के मुआवजे की मांग की है। विवेक की मौत होने के बाद से कल्पना लगातार यूपी पुलिस की कार्यप्राली पर सवाल उठा रही हैं।

विवेक तिवारी की बेटी ने की इंसाफ की मांग -

विवेक तिवारी हत्याकांड में लगातार जारी हंगामें के बीच उनकी बेटिया मीडिया के सामने आई हैं। उनकी बड़ी बेटी शिवी ने योगी सरकार से इंसाफ की गुहार लगाई है। सातवीं क्लास में पढ़ने वाली बेटी शिवी ने सरकार पर गुस्सा जाहिर करते हुए कहा कि, ऐसी गंवार सरकार हमें नहीं चाहिए। यहां आए लोग हमारी बात नहीं सुन रहे हैं। शिवी ने कहा कि, सरकार उनकी मम्मी को पुलिस में सरकारी नौकरी दे और हमारे परिवार के भरण-पोषण के लिए सरकार हमें मुआवजा दे।

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Twitter, Facebook पर हमें फॉलो करें और हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

Most Popular

-Advertisement-

Facebook

To Top