होम इनकम टैक्स छूट की सीमा बढ़ाकर 4 लाख की जाए: एसोचैम

अर्थव्यवस्था

इनकम टैक्स छूट की सीमा बढ़ाकर 4 लाख की जाए: एसोचैम

इनकम टैक्स छूट की सीमा बढ़ाकर 4 लाख की जाए: एसोचैम

इनकम टैक्स छूट की सीमा बढ़ाकर 4 लाख की जाए: एसोचैम

Photo

एसोचैम ने सरकार को आम बजट में पर्सनल इनकम टैक्स छूट की लिमिट 2.5 लाख रुपए से बढ़ाकर 4 लाख रुपए करने को कहा है। औद्योगिक संगठन ने 'आम आदमी सर्वे' के नतीजों के आधार पर एजुकेशन और हैल्थ पर खर्चों के लिए सेविंग्स और हायर टैक्स अलाऊंस पर ज्यादा इंसेंटिव्स देने की मांग की है। एसोचैम ने कहा, 'पोल में शामिल 87 फीसदी से ज्यादा लोगों ने कहा कि बेसिक टैक्स छूट लिमिट 2.5 लाख रुपए से बढ़ाकर 4 लाख रुपए करना चाहिए।' 

 

एसोचैम ने अपने प्री-बजट मेमोरैंडम में भी पर्सनल आईटी एग्जेम्पशन की लिमिट बढ़ाकर 4 लाख रुपए करने का सुझाव दिया है। इसने कहा, 'कॉस्ट ऑफ लिविंग खासतौर पर हैल्थ, एजुकेशन और ट्रांसपोर्ट खर्च बढ़ने के कारण आयकर छूट की सीमा बढ़ाना जरूरी हो गया है।' मैडिकल खर्चों पर मिलने वाली आयकर छूट की सीमा फिलहाल 15,000 रुपए है। पोल में शामिल करीब 88 फीसदी लोगों ने इस सीमा को बढ़ाकर 50,000 करने की मांग की क्योंकि मौजूदा सीमा 1998 में तय की गई थी। 

 

ठीक इसी तरह आयकर की धारा 80 डी के तहत 15,000 रुपए तक के मैडिकल इंश्योरेंस प्रीमियम पर आयकर छूट मिल रही है। 15,000 रुपए की यह सीमा भी 2008 में तय की गई थी। सर्वे में शामिल ज्यादातर लोगों का कहना था कि ज्यादा से ज्यादा लोगों को हैल्थ इंश्योरेंस के दायरे में लाने के लिए इस सीमा को बढ़ाकर 50,000 रुपए कर देना चाहिए। 

 

एसोचैम का यह पोल दिल्ली, मुंबई, कोलकाता, चेन्नई, अहमदाबाद, पुणे, हैदराबाद, चंडीगढ़ और देहरादून जैसे शहरों में किया गया है। औसतन हर शहर के अलग-अलग सेक्टर के करीब 500 एंप्लॉयीज को इस सर्वे में शामिल किया गया है। सर्वे में शामिल अधिकतर लोगों का यह कहना था कि टैक्स कैलकुलेशन के लिए लीव एनकैशमेंट एग्जेम्पशन लिमिट मौजूदा 3 लाख रुपए से बढ़कर 10 लाख रुपए कर देनी चाहिए। 

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Twitter, Facebook पर हमें फॉलो करें और हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

Most Popular

(Last 14 days)

-Advertisement-

Facebook

To Top