होम डिफॉल्टर बच नहीं सकते: जेटली

अर्थव्यवस्था

डिफॉल्टर बच नहीं सकते: जेटली

डिफॉल्टर बच नहीं सकते: जेटली

डिफॉल्टर बच नहीं सकते: जेटली

Photo

वित्त मंत्री अरूण जेटली ने बैंकों के जोखिम में फंसे ऋण में हो रही बढ़ोतरी पर चिंता जताते हुये आज कहा कि जोखिम में फंसे ऋण माफ नहीं होंगे और डिफॉल्टरों को छोड़ा नहीं जायेगा। जेटली ने गुडग़ांव में आयोजित दो दिवसीय ज्ञान संगम के समापन सत्र को संबोधित करते हुये कहा कि डिफॉल्टर बच नहीं सकते हैं। किसी को भी नहीं छोड़ा जायेगा।  

 

उन्होंने कहा कि जोखिम में फंसे ऋण के मद्देनजर ही पावर, इंफ्रास्ट्रक्चर, स्टील आदि क्षेत्रों में सुधार के उपाय किये गये हैं। इसके साथ ही लंबित पड़ी परियोजनाओं के शुरू होने से भी बैंकों को जोखिम में फंसे ऋण में सुधार होने की उम्मीद है। उन्होंने कहा कि सिर्फ कारोबार के लिहाज से बड़े बैंकों के स्थान पर वित्तीय तौर पर सशक्त बैंकों की जरूरत है।  

 

वित्त मंत्री ने ज्ञान संगम के समापन के बाद संवाददाताओं से कहा कि बैंकों ने एकीकरण के विचार का समर्थन किया। सरकारी बैंकों के एकीकरण के लिए रणनीति बनाने के उद्देश्य से एक समिति बनाने पर विचार किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि कई छोटे बैंकों को मिलाकर यदि एक बड़ा और सशक्त बैंक बनाया जा सकता है तो यह देश हित में होगा। उन्होंने कहा कि सरकारी बैंकों में कर्मचारियों को शेयर जारी किये जाने पर भी विचार हो रहा है।  

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Twitter, Facebook पर हमें फॉलो करें और हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

Most Popular

(Last 14 days)

-Advertisement-

Facebook

To Top