होम गणतंत्र दिवस परेड में ‘प्रभु महिमा’ का संदेश देगी सी.एम.एस. की झाँकी

युवाशिक्षा

गणतंत्र दिवस परेड में ‘प्रभु महिमा’ का संदेश देगी सी.एम.एस. की झाँकी

गणतंत्र दिवस परेड में ‘प्रभु महिमा’ का संदेश देगी सी.एम.एस. की झाँकी

गणतंत्र दिवस परेड में ‘प्रभु महिमा’ का संदेश देगी सी.एम.एस. की झाँकी

लखनऊ, 10 जनवरी। आगामी 26 जनवरी को गणतन्त्र दिवस परेड में सिटी मोन्टेसरी स्कूल की झाँकी सारे विश्व को ‘प्रभु महिमा’ का संदेश देगी। सी.एम.एस. इस वर्ष गणतन्त्र दिवस परेड में ‘मंगलमय है वह जगह जहाँ प्रभु महिमा गाई जाती है’ विषय पर झाँकी प्रस्तुत करने जा रहा है। सी.एम.एस. की यह झाँकी एकता, शान्ति, सौहार्द व विश्व बन्धुत्व की भावना को एक सूत्र में पिरोकर एकता का आह्वान करेगी, साथ ही ‘वसुधैव कुटुम्बकम्’ की महान संस्कृति एवं ‘भारतीय संविधान के अनुच्छेद 51’ की भावनाओं को जन-जन तक पहुँचाने की सार्थक अपील करेगी।     सी.एम.एस. की झाँकी पाँच भागों में हैं और सभी भाग एक अनूठे ढंग से ‘मानवता के कल्याण’ का संदेश दे रहे हैं। इस झाँकी के प्रथम भाग में ‘वसुधैव कुटुम्बकम्’ का संदेश दिया गया है जबकि द्वितीय भाग में विभिन्न पूजा स्थलों के माध्यम से यह प्रदर्शित किया गया है कि सभी धर्मों का स्रोत एक ही परमपिता परमात्मा है। इसी छत के नीचे झाँकी गीत ‘मंगलमय है वह जगह जहाँ प्रभु महिमा गाई जाती है’ पर सी.एम.एस. छात्राएं नृत्य प्रस्तुत करेंगी। झाँकी के तृतीय भाग में वसुधैव कुटुम्बकम के प्रतीक प्रभु राम की जन्म स्थली अयोध्या में भव्य राम मंदिर द्वारा एकता के सपने को साकार होता दिखाया गया है। झाँकी के चतुर्थ भाग में संत विनोबा भावे, स्वामी विवेकानंद, संत सूरदास, स्वामी रामतीर्थ, संत मदर टेरेसा, संत कबीर एवं धर्मगुरू दलाई लामा के माध्यम से विश्व मानवता से प्रेम करने का संदेश प्रसारित होगा। झाँकी के पाँचवे व अन्तिम भाग में ‘वसुधैव कुटुम्बकम’ तथा ‘भारतीय संविधान के अनुच्छेद 51’ की उदार भावना के अनुरूप विश्व मानवता के कल्याण हेतु एकता, शान्ति व सौहार्द का संदेश प्रसारित किया गया है। उक्त जानकारी सी.एम.एस. के मुख्य जन-सम्पर्क अधिकारी श्री हरि ओम शर्मा ने दी है।

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Facebook, Twitter, व Google News पर हमें फॉलो करें और लेटेस्ट वीडियोज के लिए हमारे YouTube चैनल को भी सब्सक्राइब करें।

Most Popular

(Last 14 days)

Facebook

To Top