होम खुशखबरी! अब किसानों की खेतों में फसल तैयार करने की राह हुई आसान , कानपुर के छात्र ने बनाई एक नई डिवाइस, जो तैयार करेगी पूरी फसल

समाचारकृषिराज्यउत्तर प्रदेशयुवातकनीकी

खुशखबरी! अब किसानों की खेतों में फसल तैयार करने की राह हुई आसान , कानपुर के छात्र ने बनाई एक नई डिवाइस, जो तैयार करेगी पूरी फसल

खुशखबरी! अब किसानों की खेतों में फसल तैयार करने की राह हुई आसान , कानपुर के छात्र ने बनाई एक नई  डिवाइस, जो तैयार करेगी पूरी फसल

खुशखबरी! अब किसानों की खेतों में फसल तैयार करने की राह हुई आसान , कानपुर के छात्र ने बनाई एक नई डिवाइस, जो तैयार करेगी पूरी फसल

Photo

खुशखबरी! अब किसानों की खेतों में फसल तैयार करने की राह हुई आसान , कानपुर के छात्र ने बनाई एक नई डिवाइस, जो तैयार करेगी पूरी फसल 

कानपुर के छात्र ने बताया कि यह उपकरण अपने आप पौधे की तापमान, पानी, हवा और नमी संबंधी जरूरत को पूरा करेगा। इसके द्वारा खेत में समयनुसार खाद और पानी खुद ही मिल जाएगा। और इस तरह किसानों के लिए खेती करना आसान हो जाएगा। 

उत्तर प्रदेश: किसानों के खेत की उत्पादक क्षमता बढ़ाने के लिए कानपुर के छात्र ने बनाई डिवाइस, तैयार करेगी पूरी फसल छात्र द्वारा बनाई डिवाइस तैयार करेगी पूरी फसल। 

किसानों की खेतों में फसल तैयार करने की राह हुई आसान। अब से किसानों (Farmer) को सिर्फ खेतों में पौधोरोपण करना होगा। इसके बाद खेतों में फसल खुद ही तैयार हो जाएगी। ऐसी ही कुछ व्यवस्था उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के कानपुर (Kanpur) जिले के 12 वीं के छात्र प्रांजल सिंह ने की है। प्रांजल ने आर्टीफीशियल इंटैलीजेंस तकनीक की मदद से ईको सिस्टम तैयार किया है। इसके द्वारा खेत में फसल को पानी खुद ही मिल जाएगा। आपको बता दें कि इसके लिए प्राजंल ने प्रधानमंत्री कार्यालय की ओर से 1 फरवरी 2021 को ग्रीन हैकथॉन प्रतियोगिता का प्रदर्शन किया था। इसके बाद आए रिजल्ट में उन्हें देश में 18वां स्थान मिला था। छात्र ने बताया कि इस डिवाइस का इस्तेमाल करने पर किसानों की फसल बर्बाद नहीं होगी। उन्होंने कहा कि ईको सिस्टम तैयार करने के लिए ऑड्रिनो प्रोग्रामिंग की मदद ली। इसके बाद रेस्पबेरी पीआई इलेक्ट्रानिक डिवाइस की मदद से पूरी प्रोग्राम तैयार किया. इसे छोटा कंप्यूटर भी कह सकते है। इस सिस्टम में सिर्फ फसल या पौधे से संबंधिंत जानकारी फीड करनी होगी। 

12 हजार रुपए की लागत से तैयार की डिवाइस 

छात्र प्राजंल ने बताया कि डिवाइस अपना काम शुरू कर देगी और खेत में अच्छी फसल के लिए खुद ही उससे संबधित वातावरण तैयार कर देगा। दरअसल ईको सिस्टम प्रकृति के अनुकूल काम करता है। इसके जरिए किसान अपनी फसल जल्दी तैयार कर सकते है। इस डिवाइस संबधित क्षेत्र में पौधों के लिए वैसा ही माहौल बना देता है। छात्र ने बताया कि इस डिवाइस को बनाने में 12000 रुपए की लागचत और 1 साल का समय लगा है। उसने कहा कि खेती में उत्पादन ज्यादा करने में लागत कम आएगी। इस संबध में कई कंपनियों से बातचीत चल रही है।

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Twitter, Facebook पर हमें फॉलो करें और हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

Most Popular

(Last 14 days)

-Advertisement-

Facebook

To Top