होम ना Cash ना Card, अब आधार कार्ड से कर सकेंगे शॉपिंग

अर्थ व बाजार

ना Cash ना Card, अब आधार कार्ड से कर सकेंगे शॉपिंग

पहले मोदी सरकार द्वारा नोटबंदी कर देश में 500 और 1000 के नोट बंद कर दिए गए।

ना Cash ना Card, अब आधार कार्ड से कर सकेंगे शॉपिंग

नई दिल्ली. पहले मोदी सरकार द्वारा नोटबंदी कर देश में 500 और 1000 के नोट बंद कर दिए गए। अब नोटबंदी के बाद कैशलेस ट्रांजेक्शन पर बल दिया जा रहा है। कैशलेस ट्रांजेक्शन के लिए सरकार एक से एक ऑफर और इनाम की घोषणा कर रही है ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग डिजिटल पेमेंट की ओर अग्रसर हो। अब इसी कदम को आगे बढ़ाते हुए और डिजिटल पेमेंट के आलोचकों को करारा जवाब देते हुए केंद्र सरकार ने आधार पेमेंट ऐप लांच किया है। इसके पीछे सरकार की मंशा डिजीटल पेमेंट की आलोचना करने वाला मुंह बंद करना है। साथ ही लोगों को भी प्लास्टिक कार्ड और प्वाइंट ऑफ सेल्स मशीन से छुटकारा दिलाना भी है। इस ऐप की मदद से आप सिर्फ अपना आधार नबंर बनाकर किसी भी तरह का भुगतान कर सकेंगे।

सरकार की इस स्कीम के बाद आपका आधार कार्ड आपके ATM और क्रेडिट कार्ड की जगह ले सकेंगे। इस ऐप की मदद से आप न केवल अपने आधार कार्ड से बिलों का भुगतान कर सकेंगे बल्कि आपको सर्विस प्रोवाइडर कंपनी की फीस भी नहीं देनी होगी।इतना ही नहीं इस ऐप की मदद से दूरदराज के गांवों में भी व्यापारी पेमेंट के लिए कर सकेंगे। आधार से पेमेंट के लिए बस आपके पास एक स्मार्टफोन होना चाहिए।

यह अप्प कैसे करेगा काम ?
- आधार पेमेंट ऐप का यूज करने के लिए सबसे पहले इसे अपने फोन में इन्सटॉल करना होगा।
- इसके अलावा बायोमीट्रिक मशीन जोकि सामान्य बाजार में 2000 रुपये में मिल जाता है इससे जोड़ना होगा।
- अगर ग्राहक के पास कोई फोन नहीं है या कोई प्लास्टिक कार्ड यानी एटीएम या कार्ड नहीं है तो भी खरीदारी कर सकता है।
- बस दुकानदार को अपना आधार नंबर बताना होगा।
- इसके बाद आपके अंगूठे का निशान ही आपका पासवर्ड होगा ।
- इसके बाद आपको आपको दुकानदार के फोन में बैंक अकाउंट का चुनाव करना होगा जो कि आपके आधार से लिंक हो।
- इसके बाद आप जितनी राशि चाहें उतनी दुकानदार के खाते में ट्रांसफर कर दें।
- आपको बता दें कि भारत में करीब 40 करोड़ लोग आधार नंबर के जरिए बैंकों से जुड़े हुए हैं जो कि देश में व्यस्कों के संख्या के आधे हैं।
- सरकार का लक्ष्य है कि 2017 के अंत तक देश के सभी आधार नंबर को बैंक अकाउंट से लिंक करवा दें। ताकि डिजिटल मनी को सुचारू रूप से लागू किया जा सके।
- आईडीएफसी बैंक और यूआईडीएआई ने मिलकर इस एप को तैयार किया है।

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Facebook, Twitter, व Google News पर हमें फॉलो करें और लेटेस्ट वीडियोज के लिए हमारे YouTube चैनल को भी सब्सक्राइब करें।

Most Popular

(Last 14 days)

Facebook

To Top