होम व्हाट्स एप की मदद से पुलिस ने सरगना को पकड़ा

अजब-गजब

व्हाट्स एप की मदद से पुलिस ने सरगना को पकड़ा

व्हाट्स एप की मदद से पुलिस ने सरगना को पकड़ा

व्हाट्स एप की मदद से पुलिस ने सरगना को पकड़ा

पानीपत : व्हाट्स एप अब पुलिस के लिए भी मददगार बन गया है। एक उद्यमी की पत्नी ने व्हाट्स एप का उपयोग करके उसके साथ हुई लूट की वारदात करने वाले गिरोह के सरगना को पकड़वा दिया।आरोपी आशीष उर्फ होल्लू उर्फ भदौरिया ने शहर समेत कई राज्यों में अपने गिरोह के साथ कई जगहों पर लूट की वारदातें की थी। पुलिस ने उसके पास से पिस्तौल व कारतूस बरामद किए
आशीष अंतरराज्यीय झपटमार गिरोह का सरगना है। उसके खिलाफ दिल्ली पंजाब उत्तर प्रदेश उत्तराखंड और पंजाब में झपटमारी व नशीले पदार्थो की तस्करी के 13 मामले दर्ज हैं। वह करनाल व कुरुक्षेत्र में झपटमारी के मामले में भगोड़ा है। पुलिस दो और झपटमारों की तलाश में जुटी है।

17 दिन पहले सेक्टर 11 में उद्यमी की पत्नी से 1.09 लाख रुपये छीन लिए थे। रेनू पत्नी अनिल मित्तल ने सब्जी मंडी स्थित पीएनबी से एक लाख रुपये निकलवाए थे। आशीष ने बैंक रेकी की और बाहर उसके गुर्गे सोनू और सुशील खड़े थे। तीनों ने बाइक से रेनू का पीछा किया। सेक्टर 11 के बतरा डेंटल क्लीनिक के पास आशीष ने रेनू के हाथ से बैग झपटा और अपने गुर्गे सोनू के साथ बाइक पर बैठकर फरार हो गया। एक महीना पहले चंडीगढ़ से खरीदी थी बाइक |आरोपी की सीसीटीवी से तस्वीर मिली। इस तस्वीर को सोशल रेनू ने व्हाट्स एप पर डाल दिया। शनिवार शाम उन्हें सूचना मिली कि जिस झपटमार की तस्वीर वाट्सएप पर वायरल है वह जलालपुर मोड़ पर वारदात की फिराक में है। तभी आशीष को तमंचा व जिंदा कारतूस सहित गिरफ्तार कर लिया।

आशीष तीन बच्चों का पिता है। उसके गुर्गे सोनू ने एक महीना पहले चंडीगढ़ के डीलर से पंजाब के रोपड़ के नंबर की पल्सर खरीदी थी। उसके खिलाफ कैथल में आठ हरिद्वार पंजाब के रूपनगर कुरुक्षेत्र के पिहोवा व करनाल में झपटमारी के एक-एक मामले दर्ज हैं। आशीष पिछले 11 साल से झपटमारी कर रहा है। अगर वह किसी जिले में पुलिस की गिरफ्त में आ जाता है तो वह जमानत पर छूटने पर उस जिले में वारदात कई महीने बाद करता था।

नवीनतम न्यूज़ अपडेट्स के लिए Twitter, Facebook पर हमें फॉलो करें और हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब कर लें।

Most Popular

(Last 14 days)

Facebook

To Top